लखनऊ [अंशू दीक्षित]। कोरोना के कहर से शादियों में होने वाले मेहमानों की सूची कम होने लगी है। कार्ड बंट जाने के बाद अब प्रशासन द्वारा जारी गाइड लाइन का हवाला देते हुए आयोजनकर्ता फोन करके बारातियों को काम लाने की बात लड़कों वालों से कह रहे हैं। 16, 17, 19, 24, 25, 29 अप्रैल 2021 को होने वाले कार्यक्रम भी निरस्त होने शुरू हो गए हैं। कोई एक ही दिन गोद भराई, बरिक्षा, तिलक व शादी करना चाहता है और शाम को आठ बजे अपने घर वापस की योजना बना रहा है तो कोई शादी अभी और रिसेप्शन कोरोना कहर शांत होने पर करने की रूपरेखा बना रहा है। इसको लेकर लखनऊ विकास प्राधिकरण के सामुदायिक केंद्र, निजी लान की बुकिंग निरस्त होनी शुरू हो गई हैं। जो लॉन में आलीशान पंडाल लगवाकर शादी करना चाहते थे, अब वह भीड़ कम होने की बात कहकर हाल में ही काम चलाऊ फंक्शन करने की बात कर रहे हैं। इसका असर कानपुर रोड, सुलतानपुर रोड, सीतापुर रोड, फैजाबाद रोड, रायबरेली रोड पर लान व रिसार्ट पर दिखने लगा है।

गाेमती नगर, जानकीपुरम, अलीगंज, महानगर सहित कैंट रोड स्थित सामुदायिक केंद्र की बुकिंग आगे बढ़ाने को लेकर फोन आने शुरू हो गए हैं। जिला प्रशासन ने 16 अप्रैल की सुबह तक रात कफ्यूZ निर्देश दिए हैं। लखनऊ विकास प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गाेमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के अलावा विराट खंड, विनय खंड, विवेक खंड, विनम्र खंड स्थित सामुदायिक केंद्रों में कार्यक्रम छोटे या फिर निरस्त करने के लिए कह रहे हैं। गुरुवार को कई बुकिंगकताZ लखनऊ विकास प्राधिकरण पहुंचकर रिफंड को लेकर जानकारी भी ली। 

क्या है किराया:  इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के लान नंबर दो : 261500 रुपये, आर्ट गैलरी : 1,57,410 रुपये, पवेलियन हाल : 1,88,400 रुपये, बैंक्वेट हाल 2,00200 लाख, विराट, विनम्र और विराज करीब 87,500 रुपये हैं। 

लविप्रा सचिव पवन कुमार गंगवार ने बताया कि जनेश्वर मिश्र पार्क में भी बुकिंग गर्मियों में है, उसकी भी बुकिंग निरस्त होने की बात चल रही है। प्रार्थना पत्र कुछ आए हैं, इनमें एक रात में समारोह न करके दिन में करने की इजाजत मांगी है, उसे इजाजत दे दी गई है। निरस्तीकरण में जो नियम होगा, उसके हिसाब से रिफंड किया जाएगा और आगे की तिथि में खाली बुकिंग होने पर ही समायोजन तिथि खाली देखकर होगा। 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021