लखनऊ, जेएनएन। पिछले वर्ष चीन से शुरू हुई कोरोना वायरस महामारी ने दुनिया को लगभग रोक दिया था।लगभग सात महीने के लॉकडाउन और फिर अनलॉक के बाद अब जब स्थितियां सामान्य होने लगी थीं कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर की आशंका ने सभी को डरा दिया है। उत्तर प्रदेश में भी कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों की संख्या बढ़ी है। राज्य में संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की रफ्तार सुस्त हुई है। बीते एक महीने में एक्टिव केस कम घटे हैं। अब तक यूपी में सर्वाधिक 1.79 करोड़ लोगों के कोरोना टेस्ट हो चुके हैं। 14.22 करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

मेरठ में राज्यसभा सदस्य व भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय पाल सिंह तोमर व उनके पुत्र की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। राज्यसभा सदस्य विजय पाल सिंह तोमर ने ट्वीट में कहा है कि कोरोना के प्रारंभिक लक्षण दिखने पर उन्होंने टेस्ट कराया था। उनकी और उनके बेटे की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। डॉक्टरों की देखरेख में उन्होंने स्वयं को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने अपील भी की है कि पिछले कुछ दिनों से उनके संपर्क में आए लोग अपनी जांच अवश्य कराएं।

उन्नाव में कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए लगातार फ्रंट लाइन में काम करते आ रहे सीएमओ भी कोरोना पॉजिटिव हो गए। उनकी मां और बेटा भी कोरोना संक्रमित हैं। एक दिन पहले ही अवकाश पर गए सीएमओ को अचानक परेशानी हुई। जांच में कोविड पॉजिटिव मिलने पर वह प्रयागराज में ही आइसोलेट हैं। 

स्वस्थ होने वालों की सुस्त हुई रफ्तार : उत्तर प्रदेष में कोरोना संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की रफ्तार सुस्त हुई है। बीते एक महीने में एक्टिव केस कम घटे हैं। अब एक अक्टूबर से लेकर 21 अक्टूबर तक कोरोना की स्थिति देखी जाए तो एक अक्टूबर को प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीज 4,03,177 थे, तब तक 3,46,859 रोगी ठीक हुए थे, 5,864 लोगों की मौत हुई थी और 50,378 एक्टिव केस थे। वहीं 21 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 4,61,618 थी, तब तक 4,25,356 रोगी स्वस्थ हुए थे, 6,755 लोगों की मौत हुई थी और एक्टिव केस घटकर 29364 रह गए थे। यानी 21,014 एक्टिव केस घटे थे। रिकवरी रेट भी इन 21 दिनों में 86.04 प्रतिशत से बढ़कर 92.25 प्रतिशत हो गया था। यानी रिकवरी रेट में 6.13 फीसद का इजाफा हुआ था। इस दौरान 891 रोगियों की मौत हुई।

रिकवरी रेट में मामूली बढ़ोतरी : 22 अक्टूबर से लेकर 22 नवंबर तक की स्थिति देखी जाए तो रिकवरी रेट में मामूली बढ़ोतरी हुई है। 22 अक्टूबर को प्रदेश में कोरोना के मरीजों की संख्या 4,63,858 थी, स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 4,27,937 थी, तब तक 6,790 लोगों की मौत हुई थी और एक्टिव केस 29,131 थी। अब 22 नवंबर यानी रविवार को प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 5,26,811 है, स्वस्थ होने वाले मरीजों का आंकड़ा 4,95,415 है, अब तक 7,559 रोगियों की मौत हुई है और एक्टिव केस यानी वर्तमान में रोगियों की संख्या 23,806 है। इस एक महीने में सिर्फ 5,325 एक्टिव केस ही घटे। रिकवरी रेट 94.04 फीसद है। यानी इसमें सिर्फ 1.79 प्रतिशत का ही इजाफा हुआ। इस एक महीने में 769 लोगों की मौत हुई है। यानी बीते 21 दिनों के मुकाबले इस एक महीने में कम रोगी मरे हैं लेकिन स्वस्थ होने की रफ्तार काफी धीमी हो गई है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021