लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के पहले दिन 31,700 स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। प्रदेश में टीकाकरण के लिए बनाए गए कुल 1500 केंद्रों में से पहले दिन 317 केंद्रों पर टीकाकरण होगा। शनिवार को देश में टीकाकरण का शुभारंभ पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे। वह इस दौरान वर्चुअल माध्यम से वाराणसी के जिला महिला अस्पताल और झांसी के एमएलबी मेडिकल कॉलेज में मौजूद लाभार्थियों से संवाद स्थापित करेंगे। टीकाकरण सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक होगा।

यूपी प्रदेश में पहले चरण में कुल नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होगा। केंद्र सरकार की ओर से कोरोना की 10,55,500 वैक्सीन प्रदेश में भेजी जा चुकी है। इससे तीन दिन के अंदर सभी स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। कोरोना टीकाकरण की तैयारियों को लेकर गुरुवार को मुख्य सचिव आरके तिवारी की अध्यक्षता में स्टेट स्टियरिंग कमेटी फॉर इम्यूनाइजेशन की बैठक हुई।

बैठक में बताया गया कि पहले दिन हर केंद्र पर सौ-सौ लाभार्थियों को टीके लगाए जाएंगे। बड़े शहरों में जरूरत के अनुसार इसकी संख्या बढ़ाई भी जा सकती है। सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों के नौ लाख स्वास्थ्य कर्मियों को तीन दिन में टीका लगाने की तैयारी की गई है। यहां हफ्ते में दो दिन सोमवार व शुक्रवार को वैक्सीन लगाने की तैयारी है।

कोरोना टीकाकरण के एक से तीन सत्र आयोजित किए जा सकते हैं। हर टीकाकरण केंद्र पर तीन कमरे होंगे। पहला प्रतीक्षा कक्षा, दूसरा टीकाकरण कक्ष और तीसरा निगरानी कक्ष होगा। वैक्सीन लगने के बाद लाभार्थी को आधा घंटे निगरानी कक्ष में बैठाया जाएगा। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाए जाने के बाद दूसरे चरण में 18 लाख फ्रंटलाइन वर्करों को, तीसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को और चौथे चरण में 50 साल से कम आयु के उन लोगों को टीका लगाया जाएगा, जो किसी न किसी गंभीर रोग से ग्रस्त हैं।

मुख्य सचिव आरके तिवारी ने कोरोना टीकाकरण में किसी भी तरह की गड़बड़ी न होने देने की हिदायत देते हुए इसके लिए पुख्ता इंतजाम करने को कहा। बैठक में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद व अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे आदि मौजूद रहे।

टीकाकरण केंद्र पर हर सत्र में पांच कर्मचारी होंगे तैनात : उत्तर प्रदेश में सभी टीकाकरण केंद्रों पर प्रत्येक सत्र में पांच कर्मचारी मौजूद रहेंगे। इसमें दो पुलिस कर्मी, एक जांचकर्ता, एक वैक्सीनेटर और एक मोबिलाइजर तैनात किया जाएगा। टीकाकरण केंद्र पर दो वैक्सीन कैरियर और प्रत्येक में चार कंडीशनिंग आइसपैक, लाभार्थियों की संख्या के अनुसार वैक्सीन, एडी सिरिंज, हब कटर, वायल ओपनर और एनाफाइलेक्सिस किट आदि मौजूद रहेगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021