लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना टीकाकरण की पहली डोज से बचे स्वास्थ्य कर्मियों को 22 जनवरी को टीके लगाए जाएंगे। इसके बाद हफ्ते में दो दिन टीके लगाए जाएंगे। उत्तर प्रदेश में शनिवार को कोरोना टीकाकरण की शुरुआत के मौके पर प्रदेश में 22,643 स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई थी।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कुल 317 स्थानों पर टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है। वैक्सीन की दूसरी डोज 15 फरवरी को लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि 22 जनवरी को होने वाले टीकाकरण के लिए सरकार के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध है।  प्रदेश में जिन स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाये जाने हैं, उनकी सूची बनायी जा रही है और पोर्टल पर उनकी रजिस्ट्रेशन कराया जा रहा है। जिन्हेंं टीके लगने हैं, कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होते ही उनके पास एसएमएस जाएगा जिसके जरिये उन्हेंं जानकारी दी जाएगी कि उन्हेंं कब, कहां और कितने बजे टीका लगना है।

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि अभी राज्य में केवल स्वास्थ्य कर्मियों को ही टीका लगाया जा रहा है। इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाने की प्रक्रिया शुरू होगी। उन्होंने सभी लोगों से अपील की है कि जब तक वैक्सीन की दोनों डोज लग नहीं जाती तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं हो जाती, तब तक कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें।

प्रदेश में कोरोना के 404 नए मरीज मिले: अपर मुख्य सचिव ने बताया कि बीते 24 घंटे के दौरान प्रदेश में कोरोना जांच के लिए कुल 1,28,073 नमूनों का परीक्षण किया गया। जांच में कोरोना संक्रमण के 404 नये मामलों का पता चला है। इससे पहले कोरोना के इतने कम मरीज सात महीने पहले जून में रोजाना मिलते थे। बीती 13 जनवरी को प्रदेश में कोरोना के 487 और 15 जनवरी को 482 नए मरीज मिले थे। हालांकि बीते 24 घंटे की अवधि में कोरोना संक्रमित 666 लोग स्वस्थ भी हुए। अब प्रदेश में कोरोना के 8,881 सक्रिय केस हैं। प्रदेश में कोविड-19 से रिकवरी का प्रतिशत 97.07 हो गया है। प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों में से 3210 लोग होम आइसोलेशन में हैं।

10.36 लाख परिवारों के बने गोल्डेन कार्ड : अपर मुख्य सचिव ने बताया कि 15 दिसंबर से 15 जनवरी तक आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डेन कार्ड बनाये जाने का अभियान चलाया गया था। अभियान के दौरान प्रदेश में 10,36,684 नये गोल्डेन कार्ड बनाये गये हैं। 3.77 लाख ऐसे परिवारों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा गया है, जिनमें परिवार के किसी भी सदस्य का गोल्डेन कार्ड नहीं बना था। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021