लखनऊ, जेएनएन। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण पर उत्तर प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू के दौरान अपेक्षित परिणाम मिलते देख योगी आदित्यनाथ सरकार ने इसका विस्तार 17 मई तक कर दिया है। प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू के दौरान ही अधिकांश जिलों में सड़कों पर सन्नाटा पसरा है, लेकिन गोरखपुर और वाराणसी में इस दौरान लोग सड़कों पर खरीददारी करने उतरे हैं और शारीरिक दूरी का पालन भी नहीं हो रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को गोरखपुर दौरे पर हैं। उनके अपनी कर्मभूमि के दौरे पर रहने के बाद भी गोरखपुर में लोग बड़ी संख्या में फल और सब्जी मंडी में खरीदारी कर रहे हैं। लोगों की भीड़ को देखकर यहां पर कोरोना  का कोई भी असर नहीं दिख रहा है। इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों ने शारीरिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करने के साथ ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया है।

वाराणसी में भी कोरोना कर्फ्यू के दौरान बड़ी संख्या में लोग सुबह से ही फल और सब्जी मंडी में लोग खरीदारी कर रहे हैं। इसके साथ ही कानपुर व लखनऊ के साथ ही मुरादाबाद में लोग कम ही निकल रहे हैं। मुरादाबाद में तो सड़कों पर सन्नाटा पसरा है।आज तो पीतलनगरी में कम संख्या में लोग घर से बाहर खरीदारी करने निकले हैं।

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 23,333 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 34,636 लोग उपचार के बाद ठीक भी हुए हैं जबकि 296 लोगों की मृत्यु दर्ज़ की गई। प्रदेश में अभी भी 2,33,981 एक्टिव केस हैं। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण की दोनों लहर में 15,03,490 लोग प्रभावित हुए हैं।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को टीम-9 के साथ समीक्षा बैठक के बाद प्रदेश में 17 मई तक के लिए कोरोना कर्फ्यू को बढ़ा दिया है। इससे पहले की सख्ती से नए मामलों में कमी देख मुख्यमंत्री ने बंदी को विस्तार दिया है। प्रदेश में सबसे पहले आठ प्रदेश को पांच सौ से अधिक एक्टिव केस वाले जिलों में रविवार को कोरोना कर्फ्यू लगाया था। इसके बाद 16 अप्रैल से सख्ती बढ़ाई गई और 20 अप्रैल से शनिवार तथा रविवार को साप्ताहिक बंदी की गई। 30 अप्रैल से प्रदेश में शुक्रवार रात आठ बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगाया गया।

इसके बाद पांच मई से दस मई तक प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया। इस दौरान संक्रमण ने नए मामले कम आने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसको 17 मई तक बढ़ाया है। उन्होंने माना कि आंशिक कोरोना कर्फ्यू के बेहतर नतीजे मिल रहे हैं। इसे देखते हुए प्रदेश में आंशिक कोरोना कर्फ्यू 17 मई, 2021 की सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया जाए। इस दौरान चिकित्सा सबंधी काम, टीकाकरण, औद्योगिक गतिविधियों सहित आवश्यक और अनिवार्य सेवाएं यथावत जारी रहेंगी। इसके अलावा सभी माध्यमिक, उच्च एवं प्राविधिक शिक्षण संस्थान 20 मई, 2021 तक बंद रहेंगे। आनलाइन कक्षाएं भी स्थगित रहेंगी। प्राथमिक स्तर की शिक्षण संस्थाओं को पहले ही 20 मई, 2021 तक के लिए बंद कर दिया गया था। सरकार ने प्रदेश में संपूर्ण लाकडाउन लगाने से पहले ही इन्कार कर दिया था, लेकिन कोरोना कर्फ्यू से कोविड प्रबंधन में सहूलियत महसूस की जा रही है।