लखनऊ, जेएनएन। राजधानी के उपभोक्ता घूमने फिरने, परीक्षा, नौकरी, मूवी और खाने पीने की चीजें ऑनलाइन मंगवा रहे हैं, लेकिन बिजली बिल का नाम आते ही उपभोक्ता ऑफलाइन हो जाता है। करीब 9.50 लाख से अधिक उपभोक्ताओं में सिर्फ सत्तर हजार उपभोक्ता ही हर माह ऑनलाइन बिल अपने घर बैठे जमा कर रहे हैं। करीब पचास हजार उपभोक्ता क्रेडिट व डेबिट कार्ड से बाकी उपभोक्ता आज भी नगद पैसा जमा करने में विश्वास रखते हैं।  करीब 4.50 लाख उपभोक्ता ई सुविधा के सहारे हैं, बाकी ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित जनसुविधा केंद्र व बिजली घरों में खुले काउंटरों पर ही बिल आज भी जमा कर रहे हैं। 

राजधानी स्थित बिजली विभाग के 25 डिवीजनों में आन लाइन बिल जमा करने वालों का ग्राफ असंतोष जनक है। सेस एक से सेस चतुर्थ में आनलाइन बिलिंग का ग्राफ .6 फीसद है। 74 बिलिंग सेंटरों के सहारे बिल राजधानी में जमा किए जा रहे हैं। वहीं सवा दो सौ से अधिक ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में जन सुविधा केंद्रों में बिल जमा हो रहे हैं। 

कुछ इस तरह है शहरी क्षेत्र में ग्राफ

डिवीजन   उपभोक्ता   ऑनलाइन 

डालीगंज    42,689      2,577

रहीम नगर   42,319      3,844

बीकेटी      73,323      2,341

गोमती नगर  44,793     6,382

चिनहट      65,700     4,846

महानगर     27912     2,367

सीतापुर रोड  40,776   2,155

इंदिरा नगर   46,105   4,308

मुंशी पुलिया 37,989   4,509

कैसे करे ऑनलाइन बिल जमा

उपभोक्ता यूपीपीसीएलआनलाइन.सीओएम पर जाकर रजिस्टर करे। अकाउंट नंबर और फिर बिल नंबर डाले। फिर कैप्चा डालना होगा। उपभोक्ता के सामने अकाउंट नंबर दिखती हुई जानकारी स्क्रीन पर आ जाएगी। इसके बाद उपभोक्ता को अपना ई मेल आइडी, कंफर्म ई मेल आइडी, मोबाइल नंबर, पासवर्ड डालना होगा, ध्यान रहे पासवर्ड का शुरुआती अक्षर अलफाबेट, फिर न्यूमेरिक और अल्फा आईकॉन डालने होंगे। तत्पश्चात उपभोक्ता रिजस्टर्ड हो जाएगा। तत्पश्चात उपभोक्ता लॉग इन पर जाकर अकाउंट नंबर व पासवर्ड डालेगा और बिल बनकर आ जाएगा।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस