लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल के बाद हुई कार्रवाई को लेकर कांग्रेस महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि एंबुलेंस कर्मियों पर फूल बरसाने वाली सरकार अब उन पर लाठियां बरसा रही है। वहीं राज्य सरकार के प्रवक्ता और एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने पलटवार कर कहा कि प्रियंका को एंबुलेंस कर्मियों की फिक्र है, लेकिन मरीजों की जान की चिंता नहीं है।

कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने गुरुवार को ट्वीट किया कि 'उत्तर प्रदेश में कोरोना काल में सरकार एंबुलेंस कर्मियों पर फूल बरसाने की बात करती थी और उन्होंने जैसे ही अपने अधिकारों की आवाज उठाई, सरकार उन पर लट्ठ बरसाने की बात कर रही है। सरकार ने एस्मा लगाकर 500 से ज्यादा कर्मचारी बर्खास्त कर दिए और जनता परेशान है। ऐसी सरकार से प्रदेश को भगवान बचाए।'

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने अपने ट्वीट के साथ अखबार में छपी एक फोटो टैग की है, जिसमें वाराणसी में एक व्यक्ति अपनी पत्नी की तबीयत खराब होने पर एंबुलेंस न मिलने के कारण उसे ट्राली से लेकर बीएचयू अस्पताल पहुंचा, लेकिन भीड़ व जलजमाव के कारण फिर उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराने ले गया।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा को यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने जवाब दिया कि 'आपकी सोच की दाद देनी होगी। आप एंबुलेंस कर्मियों पर तो प्यार जता रही हैं, लेकिन आपको उन गंभीर मरीजों की तनिक भी फिक्र नहीं है, समय से इलाज न मिलने पर जिनकी जान पर संकट है।'

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि सिर्फ पर्यटन के लिए उत्तर प्रदेश में आने वाली प्रियंका को जनता की पीड़ा से क्या लेना-देना? वैसे भी एंबुलेंस के जिन चालकों के प्रति उनका अचानक प्यार उमड़ा है, उनका सरकार से कोई लेना-देना नहीं है। वे एक कंपनी के कर्मचारी हैं। जो भी कार्रवाई की जा रही है, कंपनी की तरफ से हो रही है, लेकिन दूसरे के फटे में टांग अड़ाना कांग्रेस महासचिव की आदत हो गई है।

यह भी पढ़ें : Ambulance Strike in UP: एंबुलेंस दौड़ाने को नई भर्तियां शुरू, 130 हड़ताली कर्मचारी और बर्खास्त

Edited By: Umesh Tiwari