लखनऊ, जेएनएन। राज्य के सरकारी अस्पतालों में घटिया दवा और इंजेक्शन आपूर्ति करने वाली कंपनी को काली सूची में डाल दिया गया है। दिल का दौरा पड़ने पर दिया जाने वाला जीवनरक्षक इंजेक्शन व ऑपरेशन से पहले मरीज को बेहोशी के लिए दिए जाने वाले इंजेक्शन का नमूना जांच में घटिया पाया गया है। इसके बाद यूपी मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन ने देहरादून उत्तराखंड स्थित मेसर्स हिमालय मेडिटेक को काली सूची में डाल दिया गया है। 

राजधानी लखनऊ में स्वास्थ्य सुविधाएं चरमरा रही है। एक ओर कोविड के मरीजों को इलाज मिलना मुश्किल हो गया है। दूसरी ओर दवाओं की भी किल्लत है। ऐसे में दवा कंपनी भी जालसाजी करने से बाज नहीं आ रही है। देहरादून उत्तराखंड स्थित मेसर्स हिमालय मेडिटेक कंपनी ने यूपी मेडिकल सप्लाई कारपोरेशन को इंजेक्शन डूबूटामाइन और इंजेक्शन लिग्नोकैन विद एड्रेनालाईन की आपूर्ति की थो। इसमें इंजेक्शन डूबूटामाइन दिल के दौरा पड़े मरीज को दिया जाता है। इसी तरह लिग्नोकैन विद एड्रेनालाईन इंजेक्शन मरीज को बेहोशी देने में काम आता है। कंपनी को अगस्त 2020 में इंजेक्शन आपूर्ति का आर्डर भेजा गया था। कंपनी ने धीरे-धीरे बड़ी मात्रा में दवा आपूर्ति की।जांच में दोनों इंजेक्शन फेल हो गए। जिसके बाद कंपनी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया। 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप