लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश सरकार के कोविड प्रबंधन पर लगातार सवाल खड़े कर रही कांग्रेस की सोच पर ही योगी आदित्यनाथ सरकार ने सवाल खड़ा कर दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुष्प्रचार को कांग्रेस की कुटिल मनोवृत्ति का परिचायक बताया तो चिकित्सा शिक्षा एवं संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कांग्रेस नेताओं को झूठा और गैर जिम्मेदार बताया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- 'कोरोना महामारी के विरुद्ध संघर्ष को शिथिल करने की कांग्रेस की कूटरचना उसकी जनविरोधी प्रवृत्ति को प्रकट करती है। आज जबकि पूरा देश प्रधानमंत्री के साथ है और उनके नेतृत्व में कोरोना से लड़ रहा है, उस समय कांग्रेस के नेताओं का दुष्प्रचार उनकी कुटिल मनोवृत्ति का परिचायक है।'

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 'राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखकर साफ-साफ बताया है कि किस तरह कोविड के खिलाफ लड़ाई को कांग्रेस के शीर्ष नेताओं द्वारा सुनियोजित दुष्प्रचार द्वारा कमजोर किया जा रहा है।'

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने ट्वीट में बिना नाम लिए सपा मुखिया अखिलेश यादव पर निशान साधते हुए आगे लिखा कि 'प्रदेश के एक पूर्व मुख्यमंत्री ने यह कहकर कि यह भाजपा की वैक्सीन है और वह वैक्सीन नहीं लगवाएंगे, जनता को गुमराह करने व कोरोना के विरुद्ध इस लड़ाई को कमजोर करने का कुप्रयास किया। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि कोविड के विरुद्ध इस युद्ध में हम सब मिलकर शीघ्र विजयी होंगे।'

चिकित्सा शिक्षा एवं संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस के नेता वर्तमान में कोरोना से पीड़ितों की मदद करने के बजाए उन्हें गुमराह कर रहे हैं। कांग्रेस नेता कभी वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाते हैं तो कभी सरकार द्वारा गांवों में कोरोना पीड़ितों की तलाश के लिए चलाए जा रहे अभियान पर सवाल खड़ा करते हैं।

मंत्री सुरेश खन्ना ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू द्वारा कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने व जीवनरक्षक दवाओं व आक्सीजन की उपलब्धता को लेकर सरकार के दावे पर सवाल खड़ा करने पर कहा कि राहुल गांधी से लेकर लल्लू तक सबके सब गैर जिम्मेदार हैं। वे उस अभियान पर भी सवाल खड़ा कर रहें हैं, जिसे डब्लूएचओ ने सराहा है।