लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मानना है कि देश के पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपलब्धियों का कोई भी विकल्प नहीं है। इसी कारण 2019 का लोकसभा चुनाव उनकी उपलब्धियों पर ही होगा। लखनऊ में एक कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्षी दलों का भाजपा के खिलाफ महागठबंधन भले ही तैयार हो रहा है, लेकिन उनके पास नेता के रूप में कोई चेहरा ही नहीं है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्षियों के पास कोई चेहरा ही नहीं है। यही कारण है कि विपक्षी पार्टी गठबंधन तो बनाने की बात तो कह रहे हैं लेकिन किसी नेता के नाम पर सहमति नहीं बना पा रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गठबंधन इसलिए हो रहा है क्योंकि बाकी लोग भारतीय जनता पार्टी से भयभीत है। वह विकास से भयभीत है। भाजपा ऐसा शासन दे रहा है जो जिससे देश का विकास हो सके। यह देश की पहली सरकार है जिसने सत्ता का केंद्र बिंदु गांव, किसान, मजदूर और महिलाओं को बनाया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विपक्षी दलों में यह जो वर्तमान की बौखलाहट है जिसमें कहा जा रहा है कि मिलकर चुनाव लड़ेंगे लेकिन नेता का नाम नहीं बता रहे हैं क्योंकि उनके पास कोई नेता ही नहीं है। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसी शरारत है जिससे देश को आज अस्थिरता की तरफ ले जाया जाएगा। लेकिन मुझे लगता है जो भारत के विकास का पक्षधर है भारत की सुरक्षा और महिलाओं की शान का पक्षधर है वह भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में खड़ा होकर के भाजपा की सरकार बनाने में योगदान देगा इसमें उत्तर प्रदेश की निर्णायक भूमिका होगी।

उन्होंने कहा कि विपक्ष डरा हुआ है, रोज नई बातें भले ही सामने आ रही है लेकिन विकास के काम के दौर में भाजपा को दोबारा देश की सत्ता पर काबिज होने से कोई भी नहीं रोक सकता है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महागठबंधन राहुल गांधी को अपना नेता मानने को तैयार नहीं है। इस महागठबंधन के पास कोई नेता नहीं है। यह लोग भले ही साथ मिलकर चुनाव लडऩे को तैयार हैं लेकिन नेता का नाम नहीं बता रहे हैं। यह लोग भारत के विकास और देश की राजनीतिक स्थिरता से भयभीत हैं। इसी कारण विपक्ष में गठबंधन हो रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हासिल की गई उपलब्धियों पर होगा। विकास और सुशासन के बगैर किसी सरकार की पहचान नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार वो पहली सरकार है जिसने सत्ता का केंद्र बिंदू गांव, गरीब, दलित, किसान और महिलाओं को बनाया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी हम लगातार विकास की नई योजनाए प्रारंभ कर रहे हैं। हमने प्रदेश के अंदर 20000 से अधिक तालाबों को खुदवाने का काम किया है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में किसानों के खाता में एक लाख करोड़ रुपया गया है। गन्ना किसानों के हाथों में 70000 करोड़ रुपए दिए हैं। इस वर्ष 35000 करोड़ गन्ना मूल्य का भुगतान हो चुका है, जो 11000 करोड़ रुपए बचा है वह जल्द ही कर दिया जाएगा। इसकी सीमा अक्टूबर तक तय की गई है। उत्तर प्रदेश की जमीन काफी उपजाऊ है, थोड़ी सी मेहनत से काफी लाभ मिल सकता है, हमने पिछले 15-16 महीनों में उत्तर प्रदेश के किसानों के खातों में 100000 करोड़ रुपए से अधिक की धनराशि भेजी है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं है। उत्तर प्रदेश में हम 1100 ऐसे कानून खत्म करने जा रहे हैं जो प्रासंगिक नहीं रह गए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में मॉब लिंचिंग नहीं होती। हमने अवैध स्लाटर हाउस पहले ही बंद कर रखे हैं। यूपी में मॉब लिंचिंग की घटनाएं इसलिए नहीं होती हैं क्योंकि राज्य में गैरकानूनी बूचडख़ानों को बंद कर दिया गया। प्रदेश में नौकरियों की कमी नहीं है। हमारी सरकार 137000 शिक्षकों की भर्ती करेगी। पुलिस में भी डेढ़ लाख से अधिक भर्तियां करनी है, इसकी प्रक्रिया जारी है। योगी आदित्यनाथ ने कहा-कर्मचारियों के 50 साल की उम्र में स्क्रीनिंग करने जा रहे हैं। जो अच्छा काम करेंगे वह आगे जाएंगे जो नहीं और जो काम नहीं करेंगे उन्हें घर भेजा जाएगा।

Posted By: Dharmendra Pandey