लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। कई इलाकों में जबर्दस्त जलभराव के कारण दिक्कतें हो रहा हैं। अत्यधिक बारिश, वज्रपात, डूबने और सर्पदंश से कई लोगों की मृत्यु भी हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में हुई अत्यधिक वर्षा से पैदा हुए हालात में राहत कार्य पूरी सक्रियता से संचालित करने और प्रभावित लोगों को तत्परतापूर्वक मदद व राहत प्रदान करने का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश में अत्यधिक बारिश से उत्पन्न स्थिति की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर समीक्षा की। समीक्षा बैठक में सीम योगी ने निर्देश दिया कि जहां कहीं भी जलभराव हुआ है, उन क्षेत्रों में तत्काल जल निकासी की व्यवस्था की जाए। नगरीय निकाय पूरी क्षमता के साथ जल निकासी के प्रबंध करें। ग्रामीण इलाकों में भी जल जमाव की समस्या का समाधान किया जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संक्रामक रोग न फैलने पाएं, इसके लिए सभी जरूरी इंतजाम किये जाएं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा जिला अस्पतालों में डाक्टरों, पैरामेडिक्स सहित सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्धता बनाये रखी जाए। एंटी रेबीज इंजेक्शन तथा एंटी स्नेक वेनम सभी अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर उपलब्ध रहे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में फागिंग और एंटी लार्वा स्प्रे करने के निर्देश दिए हैं। जिला प्रशासन के अधिकारियों को सक्रियता के साथ पीड़ितों की मदद करने की हिदायत दी है। उन्होंने आपदा से प्रभावित लोगों को तत्काल आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें : यूपी में भारी बारिश के चलते नगरीय निकायों, जल संस्थान और जल निगम कर्मियों के अवकाश निरस्त

Edited By: Umesh Tiwari