लखनऊ, जेएनएन। यूपी बोर्ड परीक्षा 2020 के प्रपत्रों में दर्ज किए गए परीक्षार्थियों के नामों और केंद्र आवंटन में भारी त्रुटियां मिल रही हैं। यह जानकारी प्रवेश पत्र आने पर विद्यार्थियों और विद्यालयों को हुई। जिसके बाद विद्यालय ने परीक्षा कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई है।

तीन से चार बार हुई जांच फिर भी नहीं सुधरे नाम रमा को लिख दिया रामा : इस बार परिषद से मार्कशीट में परीक्षार्थियों के नाम हिंदी में भी लिखकर आने हैं। यह आदेश पहले ही जारी हो चुका था। इसके बाद भी अंग्रेजी के नाम तो सही दर्ज हैं पर हिंदी के बहुत से नामों में गलतियां सामने आई हैं। कहीं, परीक्षार्थियों के नाम में रमा को रामा लिख दिया गया तो कहीं उनके माता-पिता के नाम और पाई-मात्राओं में गलतियां मिली हैं, जबकि पहले स्कूल से एसआर रजिस्टर से भी नामों को तीन से चार बार चेक कराया गया था। एलडीए स्थित नेशनल पब्लिक इंटर कॉलेज के 12 वीं के चार छात्र व दसवीं के एक छात्र के नामों में त्रुटियां हैं। ऐसे में विद्याथिर्यो को समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

यूपी बोर्ड परीक्षा

विद्यार्थी परेशान, विद्यालय के माध्यम से परीक्षा कार्यालय भेजी गई रिपोर्ट

जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि नाम संशोधन के संबंध में परीक्षार्थियों को विद्यालय के माध्यम से परीक्षा कार्यालय में सारे साक्ष्यों के साथ आवेदन करना होगा। इसके बाद उन्हें परिषद भेजा जाएगा। वहीं, केंद्र संबंधित त्रुटियां ठीक कराई जा रही हैं।

छात्रओं का केंद्र छात्रों के नाम से दर्ज

परीक्षा केंद्र आवंटन से लेकर प्रपत्रों में विद्यार्थियों और उनके अभिभावक के नामों में तमाम गलतियां मिल रही हैं। सेंट जोन्स इंटर कॉलेज के छात्र-छात्रओं के केंद्र अगल-अलग थे पर जब एडमिट कार्ड मिला तो पता चला कि 10वीं के छात्र मो. फाकिर का परीक्षा केंद्र छात्राओं के साथ कर दिया गया। इसके अलावा कई छात्रों के परीक्षा केंद्र में भी विभिन्न विद्यालयों में त्रुटियां मिली हैं। विद्यालय प्रबंधन ने इसकी शिकायत डीआइओएस कार्यालय में दर्ज कराई है।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस