लखनऊ, जेएनएन। 25 Crore Tree Planting Campaign : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच जुलाई को उत्तर प्रदेश में 25 करोड़ पौधरोपण अभियान का शुभारंभ मेरठ के समीप स्थित पौराणिक शहर हस्तिनापुर से करेंगे। हस्तिनापुर में आध्यात्मिक व पौराणिक महत्व के 108 प्रजातियों के पौधे रोपे जाएंगे। महाभारत की याद दिलाने वाले हस्तिनापुर में पांडवों के साथ-साथ श्रीकृष्ण, राधा व श्रीराम के समय के पौधे लगाए जाएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पौधारोपण के लिए वन विभाग हस्तिनापुर में ऐसे पौधों की प्रजातियां चुन रहा है, जिनका वर्णन पौराणिक व आध्यात्मिक कथाओं में मिलता है। यहां श्रीकृष्ण से जुड़े कृष्ण कदम्ब, राधा से जुड़े तमाल पौधा भी रोपा जाएगा। पुरातन काल में तप स्थली के रूप में पहचाना जाने वाला हरिशंकरी पौधा भी यहां लगाया जाएगा। इस क्षेत्र में इस तरह पौधारोपण किया जाएगा, ताकि आध्यात्मिक के साथ ही पौराणिक संदेश भी आम जनता को मिल सके।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं विभागाध्यक्ष राजीव कुमार गर्ग ने बताया कि इस क्षेत्र में हरिशंकरी वाटिका, पंचवटी वाटिका, नक्षत्र वाटिका, धनवंतरि वाटिका, नवगृह वाटिका आदि यहां लगाया जाएगा। महाभारत के समय पाण्डवों के अज्ञातवास में बहुत सारे वृक्षों का वर्णन मिलता है। उन पौधों को भी यहां लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि 108 शुभ संख्या है इसलिए यहां 108 प्रजातियों के पौधे रोपे जाएंगे। पौधारोपण की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में इस बार 25 करोड़ पौधारोपण अभियान में सबसे अधिक प्रजातियों के पौधे रोपित करने का विश्व रिकॉर्ड बनेगा। इसके लिए यूपी की योगी सरकार ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड से संपर्क किया है। गिनीज बुक ने 150 प्रजातियों का बेंचमार्क तय किया है। वन विभाग करीब 200 प्रजातियों के पौधे एक साथ रोपित करने की तैयारी कर रहा है। पिछले साल यानी वर्ष 2019 में योगी सरकार ने 22 करोड़ पौधारोपण अभियान के तहत प्रयागराज में एक स्थल पर छह घंटे में 76,823 पौधे मुफ्त वितरित कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था। इसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया है। इसके अलावा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कासगंज में एक ही स्थान पर एक लाख एक हजार पौधे रोपित कर रिकॉर्ड बनाया था।

Edited By: Umesh Tiwari