लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ दिन पांच जुलाई को पूरे होंगे। इसके एक दिन पहले ही यानी आज चार जुलाई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल के सौ दिन के कामकाज का रिपोर्ट कार्ड पेश किया। लोक भवन में सीएम योगी आदित्यनाथ प्रेस कान्फ्रेंस में सरकार के कार्य का ब्यौरा प्रस्तुत किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार में सारे कार्यक्रम उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को नई गति देने के लिए टीम वर्क से हो रहे हैं। हम आज पांच वर्ष के कार्यक्रम के संदर्भ ने सौ दिन की प्रगति को प्रस्तुत कर रहे हैं। हमारी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था के ग्रोथ इंजन के रूप में उत्तर प्रदेश के सामर्थ्य को संजोने और उसे देश व दुनिया के सामने प्रस्तुत करने का कार्य 2017 से मार्च 2022 के बीच में किया है। अब इस दूसरे कार्यकाल में हम सब एक नई उड़ान के साथ अपनी यात्रा को आगे बढ़ा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जो लक्ष्य निर्धारित किया है, जो भारत की अर्थव्यवस्था फाइव ट्रिलियन की होगी उसमें तो स्वाभाविक रूप से उत्तर प्रदेश की भूमिका इसमें महत्वपूर्ण हो जाती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें जो दूसरा कार्यकाल जनता जनार्दन ने दिया है, इस दूसरे कार्यकाल में एक नई उड़ान के साथ हम सब अपनी यात्रा को आगे बढ़ा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में सरकार में आते ही मंत्रिमंडल ने दस सेक्टर चुने। उनसे संबंधित प्रेजेंटेशन विभागीय प्रशिक्षण में सभी विभागीय मंत्री गण मौजूद रहे उसे बनाया, उसका अध्ययन किया। इसके बाद मंत्रिमंडल के सामने प्रस्तुतीकरण हुआ फिर सभी की चर्चा हुई और ठोस कार्ययोजना बनाकर के हर एक सेक्टर के लिए एक सीनियर अधिकारी को जिम्मेदारी दी। जिससे कि हर सेक्टर की संभावनाओं को आगामी पांच वर्ष में वन ट्रिलियन डॉलर की योजनाओं में सहयोग दे।

उन्होंने कहा कि सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम में 18 समूहों के साथ अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों को जोड़ा गया। इन सभी ने 18 कमिश्नरी को केंद्र में रखकर के 72 घंटे के लिए एक-एक कमिश्नरी में प्रवास किया। जनपद स्तर पर गांव में गए नगर में गए अलग-अलग संगठनों और संस्थाओं के साथ बैठकर वार्ता भी की। जनता चौपाल लगाई, विकास कार्यों के भौतिक निरीक्षण किए और उन कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने का कार्य किया जो जनता के मन में विश्वास पैदा कर सके। मंत्री समूह में अब तक हर मंत्री समूह 2- 2 कमिश्नरी कवर कर चुके हैं। सरकार की सभी योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन सफलतापूर्वक आगे बढ़ाया जा रहा है। यह जो कार्यक्रम है जो उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक नई गति देने के लिए टीम वर्क के रूप में कार्य करके आगे बढ़ाया जा रहा है। जिससे अगले पांच वर्ष के लिए जो लक्ष्य तय किए गए हैं वह समय पर तय हो सकें। वर्तमान में हम उसी ओर आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। हमने जो कार्य योजना तैयार की है उसमें तकनीक का भी बेहतर इस्तेमाल किया है। पहली बार प्रदेश के अंदर पेंशन प्राप्त करने वाले सरकारी कर्मचारियों के लिए ई पेंशन योजना लागू की। देश का पहला राज्य है यूपी जो 100 दिनों के अंदर इस योजना को लागू किया है। प्रदेश में ई-विधान को लागू किया गया हाल ही में विधानसभा में जो सत्र संपन्न हुआ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में देश के महामहिम राष्ट्रपति जी रामनाथ कोविन्द का मार्ग दर्शन दोनों सदनों को प्राप्त हुआ।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा नीत गठबंधन की सरकार के दोबारा सत्ता में आने के सौ दिन के कार्यकाल की पहली प्रेस वार्ता में आपका स्वागत करता हूँ। प्रदेश की जनता जनार्दन ने प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन और निर्देशन में भाजपा गठबंधन को प्रचंड बहुमत देकर विश्वास जताया,वह विश्वास निरंतर कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। विधानसभा के बाद विद्यानपरिषद के चुनाव हुए 36 में से 33 सीट पर जीत हुई, विधानपरिषद का सदन पहली बार कांग्रेस मुक्त हो गया। इसके बाद दो लोकसभा चुनाव भी सम्पन्न हुए, पूर्वी, पश्चिमी की दोनों सीटे रामपुर,आजमगढ़ दोनों सीटे पर भाजपा को आशीर्वाद मिला। प्रधानमंत्री जी के बेहतर समन्वय का परिणाम है,जिसके कारण जनता का आशीर्वाद प्राप्त हो रहा है। उत्तरप्रदेश के इतिहास में 37 वर्ष बाद ये समय आया कि एक सरकार को दोबारा प्रचंड बहुमत मिला,और किसी मुख्यमंत्री ने 5 वर्ष सफलतापूर्वक पूरा किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश की आबादी के लिहाज से सबसे बड़ा राज्य है। प्रधानमंत्री कहते हैं कि उत्तर प्रदेश में असीम संभावनाएं है, उत्तर प्रदेश अर्थव्यवस्था में बेहतर कर सकता है।

सेवा, सुरक्षा तथा सुशासन को समर्पित योगी आदित्यनाथ सरकार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश में सौ दिन में गरीबों के लिए 1,08,200 आवासों का निर्माण कराया। अब तक कुल 44 लाख आवासों का निर्माण हुआ है। इस अवधि में सरकार की प्रगति क्या रही, इसकी रिपोर्ट जनता के सामने रखी जा रही है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य स्तर पर लखनऊ में तो सभी मंत्री ने जिलों में संदेश दिया कि सरकार के यह 100 दिन सेवा, सुरक्षा और सुशासन के लिए समर्पित रहे। इसके साथ ही अगले छह माह के लिए प्रस्तावित कार्ययोजना भी बताई जाएगी। 25 मार्च को दूसरे कार्यकाल की शपथ लेते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी विभागों के मंत्रियों और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को लक्ष्य दे दिया था कि 100 दिन, छह माह, एक वर्ष और प्रतिवर्ष के हिसाब से पांच वर्षों की कार्ययोजना बनाकर काम करें।

इस अवसर पर मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने कहा कि चढ़े हिमालय की छोटी पर, अभी और चढऩा है,हमे हिमालय की चोटी पर और हिमालय गढऩा है। सौ दिन का रिपोर्ट कार्ड अगले पांच वर्ष का आधार है। हमको भरोसा है कि हम 1 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को प्राप्त करेंगे।

यह भी पढ़ें : सीएम योगी आदित्यनाथ बोले- हमारी सरकार ने दूर कराया पहचान का संकट, देश में अब उत्तर प्रदेश की विशिष्ट पहचान

Edited By: Dharmendra Pandey