लखनऊ, जेएनएन। लॉकडाउन की वजह से जो बड़े प्रोजेक्ट फंस गए थे, अब उन पर फिर तेजी से काम होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट कह दिया है कि जरूरी निर्माण परियोजनाओं के लिए धन की कमी नहीं होने दी जाएगी। हालांकि, प्राथमिकता उन प्रोजेक्ट को दी जाएगी, जो जल्द ही पूरे होने की स्थिति में हैं। इन परियोजनाओं में अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिक-कामगारों को रोजगार देने की बात भी मुख्यमंत्री ने कही है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अपने सरकारी आवास पर विभिन्न विभागों की 25 करोड़ रुपये से अधिक लागत की परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी विभागों की आवश्यक और महत्वपूर्ण निर्माण परियोजनाओं पर काम निरंतर जारी रखें। काम रुकने से उनकी लागत बढ़ जाती है और जनता को समय से इनका लाभ नहीं मिल पाता। उन्होंने कहा कि आवश्यक निर्माण परियोजनाओं के लिए धन की कमी नहीं होनी दी जाएगी। पूर्णता की ओर बढ़ रहे प्रोजेक्ट पर प्राथमिकता के आधार पर तेजी से काम कराएं। इन सभी परियोजनाओं में श्रमिक-कामगारों के लिए अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजित किए जाएं। जरूरत हो तो इन्हेंं प्रशिक्षण भी दिलाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रमिक-कामगारों को अधिक से अधिक रोजगार दिलाने के लिए श्रम सुधार किए गए हैं। मनरेगा के तहत बरसात में भी जारी रखे जा सकने वाले कार्यों को भी चिह्नित किया जाएगा, जिससे वर्षा ऋतु में भी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जा सके। मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग, यूपीडा, नगर विकास विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, श्रम विभाग आदि में निर्माणाधीन परियोजनाओं की समीक्षा की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने और उन्हेंं पूरी गुणवत्ता और समय सीमा में पूरा करने पर बल दिया। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव नियोजन एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन कुमार कमलेश, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह व यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव कुमार मित्तल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

15 जून तक कर लें बाढ़ नियंत्रण संबंधी काम : सिंचाई विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ नियंत्रण संबंधी सभी काम हर हाल में 15 जून तक पूरे कर लिए जाएं। उन्होंने कटान रोकने से जुड़े कार्य भी जल्द पूरे करने के लिए कहा है।

45 फीसद हो गया पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का काम : यूपीडा की परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगा एक्सप्रेसवे के बारे में जल्द निर्णय लेकर प्रक्रिया आगे बढ़ाएं। अधिकारियों ने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का 45 फीसद से अधिक काम पूरा हो गया है। लॉकडाउन के बावजूद यह परियोजना निर्धारित समय से पहले पूरी कर ली जाएगी। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का कार्य समयबद्ध ढंग से चल रहा है। गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण की कार्यवाही प्रगति पर है। इसके लिए हुडको द्वारा 2900 करोड़ रुपये का ऋण स्वीकृत कर दिया गया है। योगी ने प्रदेश में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों की प्रगति की समीक्षा भी की।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस