लखनऊ, जागरण संवाददाता। प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए शुरू हुई मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना (निशुल्क कोचिंग) के प्रति अभ्यर्थियों की रुचि बढ़ी है। यही वजह है कि सत्र 2021-22 में सिविल सर्विसेज, नीट, एनडीए और जेईई कोचिंग के लिए हुई परीक्षा में पिछले आंकड़ों की तुलना में अधिक अभ्यर्थी चयनित हुए हैं। कक्षाएं शुरू होने से पहले इनका पंजीकरण शुरू हो गया है। पहले दिन लखनऊ विश्वविद्यालय के ओएनजीसी सेंटर में इसके लिए अभ्यर्थियों की भीड़ जुट गई। अगले सप्ताह से निशुल्क कक्षाएं शुरू करने की तैयारी है। 

दरअसल, ऐसे विद्यार्थी जिनके पास प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए पैसे नहीं होते हैं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके लिए इसी साल बसंत पंचमी पर अभ्युदय योजना की शुरुआत की थी। इसमें एक सामान्य परीक्षा होती है। जिसमें चयनित अभ्यर्थियों को नीट, जेईई, सिविल सर्विसेज और एनडीए की तैयारी कराई जाती है। कई आईएएस और पीसीएस भी इसमें कक्षाएं लेते हैं। 

5,453 अभ्यर्थियों ने पास की परीक्षाः इस बार प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए बीते अक्टूबर में परीक्षा हुई थी। जिसके नतीजे आ चुके हैं। अकेले यूपीएससी के लिए लखनऊ मंडल से 4089 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। कोआर्डिनेटर नीतेश श्रीवास्तव ने बताया कि पिछले साल यूपीएससी के लिए यह संख्या 3361 थी। इनमें से 1900 ने फार्म जमा किए गए थे। वहीं, 1200 ने पढ़ाई की थी। नीट और जेईई की कोआर्डिनेट प्रज्ञा श्रीवास्तव के मुताबिक नीट में 633, जेईई के लिए 239 और एनडीए की तैयारी के लिए 492 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। शनिवार तक उनका पंजीकरण होगा। फिर काउंसलिंग होगी। कक्षाएं शुरू होने का शेड्यूल जारी किया जाएगा।

अब एनडीए की कक्षाएं भी आइईटी में चलेंगी : कोआर्डिनेटर प्रज्ञा श्रीवास्तव ने बताया कि अभी तक एनडीए की कक्षाएं सरोजनी नगर में चलती थीं। अब नीट और जेईई के साथ-साथ एनडीए और सीडीएस की कक्षाएं भी इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी (आईईटी) लखनऊ में चलेंगी।

Edited By: Vikas Mishra