लखनऊ, जेएनएन। बदली हुई लाइफ स्टाइल के कारण हृदय व डायबिटीज के रोगी बढ़ रहे हैं। हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से काफी लोग परेशान हैं। ठंड में तो हृदय रोगियों की धड़कन बढ़ जाती है। ऐसे में बहुत सुबह-सुबह उठकर ठहलने कतई न जाएं। सुबह देर से टहलने जाएं तो अच्छा होगा। अगर शीतलहर चल रही है तो आप घर में ही व्यायाम करें या फिर टहल लें। मफलर, दस्ताने व टोपी लगाएं और कपड़े तीन-चार लेयर में पहने। यानि पहले गर्म इनर, फिर शर्ट, उसके ऊपर स्वेटर और फिर जैकेट इत्यादि। ठंड से बचना बहुत जरूरी है। मार्निंग वॉक से लौटकर गुनगुना पानी पिए। ठंड में नार्मल पानी में ठंडा ही होता है। ऐसे में इसे पीने से हार्ट अटैक हो सकता है। ठंड में बीमारियों से किस तरह बचाव किया जाए इसके लिए दैनिक जागरण ने बुधवार को प्रश्न पहर कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के कार्डियोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. भुवन चंद्र तिवारी ने सुझावों के साथ पाठकों के सवालों के जवाब भी दिया।

बीमारी का कारण - अनियमित दिनचर्या। भागदौड़ भी जिंदगी व बढ़ता तनाव। तली-भुनी चीजों का सेवन और फास्ट फूड खाना।  मीठे का सेवन। पर्याप्त नींद न लेना। धूम्रपान व शराब का सेवन करना।
हृदय रोग के लक्षण - सीने में दर्द होना, शरीर में भारीपन, पसीना आना , घबराहट होना व कमजोरी महसूस करना।

ऐसे करें बचाव 

  • हाई ब्लड प्रेशर के रोगी ठंड में अत्याधिक शारीरिक श्रम करने से बचें
  • प्रतिदिन कम से कम 45 मिनट वॉक करना और व्यायाम करना
  • सुबह व शाम दोनों टहलने की आदत डालें
  • ठंड में बहुत सुबह उठकर ठहलने की बजाए देर से टहलने जाएं
  • ठंडा पानी या कोल्ड ड्रिंक न पिएं बल्कि गुनगुना पानी व चाय इत्यादि पिएं
  • ठंड में कपड़े तीन-चार लेयर में पहने
  • कैप, मफलर, दस्ताने आदि पहनें
  • कम से कम सात घंटे जरूर नींद लें
  • अपने वजन पर नियंत्रण करें
  • पौष्टिक व संतुलित आहार लें
  • रक्तचाप व शुगर की जांच करवाएं
  • सांस के रोगी इन्हेलर का प्रयोग करें

शुगर के रोगी थोड़े-थोड़े अंतराल में खाए खाना, जूस न पिएं
शुगर के रोगियों को चाहिए कि वह एक साथ खाना न खाए। इसस  शुगर लेवल बढ़ता है। बल्कि आप दिन में चार-पांच बार बांट-बांटकर खाना थोड़ा-थोड़ा खाए। जूस न पिएं बल्कि सेब, अमरूद आदि फल खाए इसमें फाइबर होता है और शुगर कम।

कम उम्र में भी हार्ट अटैक का खतरा
डॉ. भुवन चंद्र तिवारी ने बताया कि अब 30 वर्ष की उम्र में भी हार्ट अटैक के मामले सामने आ रहे हैं। इसका प्रमुख कारण तनाव, धूम्रपान, शराब का सेवन या फिर माता-पिता को हृदय रोग होने से फैमिली हिस्ट्री प्रमुख है। जिन लोगों के घर में उच्च रक्तचाप व हृदय रोगी हैं वह 25 से 30 वर्ष की आयु में  ब्लड की जांच, शुगर की जांच, ईसीजी और कोलेस्ट्रॉल की जांच जरूर करवाएं।

शारीरिक श्रम करने पर हार्ट में दर्द बढ़े तो हृदय रोग के लक्षण
सामान्य तौर पर चेस्ट में पेन होने पर लोग घबरा जाते हैं। आप घबराए कतई नहीं। अगर तेज चलने और शारीरिक श्रम करने पर हार्ट में दर्द बढ़ रहा है तभी आपक हार्ट पेशेंट हैं।

ब्लड प्रेशर के रोगी दवाएं सावधानी से लें
ठंड में सामान्य तौर पर ब्लड प्रेशर बढ़ता है। ऐसे में ब्लड प्रेशर के रोगी दवा लेने में ऐतिहात बरतें। कई बार ऐसा होता है कि पांच-दस दिन ब्लड प्रेशर सामान्य आता है तो लोग दवा लेना बंद कर देते हैं लेकिन तनाव बढऩे पर यह तेजी से बढ़ता है। ऐसे में सावधानी बरतें।

50 फीसद लोग हाई ब्लड प्रेशर से अनभिज्ञ
डॉ. भुवन चंद्र तिवारी ने बताया कि उच्च रक्तचाप की समस्या चुपके से शरीर में दस्तक देती है। देश में 50 फीसद लोग हाई ब्लड प्रेशर होने के बावजूद उससे अनभिज्ञ रहते हैं। अब कम उम्र में भी यह समस्या आ रही है। बीते साल हुए एक सर्वे में यह सामने आया था कि 35 प्रतिशत लोग लखनऊ में हाई ब्लड प्रेशर होने के बावजूद उससे अनभिज्ञ हैं।

आंख की रोशनी व किडनी को भी हो रही क्षति
उच्च रक्तचाप होने से धमनियों में दबाव बढ़ जाता है, जिसके कारण इसमें खिंचाव आ जाता है। इस दौरान पतली-पतली रक्त नलिकाओं में हो रहा रक्त प्रवाह बाधित हो जाता है। इससे नेफ्रॉन का आवागमन भी बाधित हो जाता है, जो कि किडनी की समस्या उत्पन्न करता है। वहीं उच्च रक्तचाप से हृदय ही नहीं आंखों की रोशनी को भी क्षति पहुंचती है।

पाठकों ने पूछे सवाल
प्रश्न : सुबह नहाने के बाद पूजा करता हूं तो सांस बहुत फूलती है, जीपी त्रिपाठी एलडीए कालोनी कानपुर रोड
उत्तर : आप ठंडे पानी से न नहाए बल्कि आप गुनगुने पानी से नहाना शुरू करें। दरअसल ठंडे पानी से नहाने के बाद जब आप पूजा करने बैठते हैं तो मंत्र या आरती पढऩे में मेहनत करते हैं। शरीर में गर्माहट लाने के लिए मेहनत करनी पड़ती है, इससे सांस फूलती है।
प्रश्न : मुझे ब्लड प्रेशर व शुगर दोनो है और वजन भी अधिक है, रेवा गुप्ता गोल्फ सिटी
उत्तर : देखिए आपका वजन करीब 100 किलोग्राम है इसलिए आप डाइट में कंट्रोल करें और टहले। मोटापा इंसुलिन लेने से भी बढ़ता है। हरी सब्जियां व फल और फाइबर युक्त चीजें ज्यादा खाएं। ब्लड प्रेशर होने के कारण इस बात पर ध्यान रखें कि इतनी मेहनत न करें कि जिससे सांस न फूले।
प्रश्न : मेरी सांस बहुत फूलती है, इको व ईसीजी ठीक आया है, क्या करूं भारती खरे, आलमबाग व केएच शर्मा
उत्तर : देखिए आपको अस्थमा भी हो सकता है। आप इसके लिए ट्रेडमिल (टीएमटी) जांच करवाएं।
प्रश्न : मुझे 15 साल पहले हाई ब्लड प्रेशर होने पर शरीर के बाएं हिस्से में पायरलिसिस हो गया था जो बाद में सही हो गया, क्या ऐतिहात बरतें, बृजेश पाठक इंदिरानगर व अमित कुमार राजाजीपुरम
उत्तर : देखिए आपको डिप्रेशन व इंजाइटी होने के कारण टम्प्रेरी फॉलिज अटैक हो गया था। दरअसल इससे नसे सिकुड़ जाती हैं। आप एंटी इंजाइटी मेडिसिन लें, तनाव न करें और मार्निंग वॉक जरूर करें।
प्रश्न : मेरी शुगर ज्यादा बढ़ी रहती है, मैं क्या करूं राम लली दीक्षित त्रिवेणीनगर व राम नरेश जौनपुर
उत्तर : देखिए आप खाने को टुकड़ों में बांटकर खाएं। आलू-चावल व मीठे का सेवन कतई न करें। कम से कम 30 मिनट जरूर टहलें। परहेज के साथ-साथ डॉक्टर की सलाह से दवा लें। लंबे समय से शुगर है और वह कंट्रोल नहीं हो रही तो डॉक्टर से दवा की डोज व पावर बढ़वा लें।
प्रश्न : मेरा ब्लड प्रेशर 140/ 90 रहता है, दवा नहीं ले रहे तो क्या करूं। हरीशचंद्र इंदिरानगर व सुशील बाराबंकी
उत्तर : आपकी उम्र 82 वर्ष है अगर  ब्लड प्रेशर 150/ 90 भी रहता है तो भी ठीक है, इससे ऊपर न जाए। आप ठंड से पूरी तरह बचाव करें व सावधानी बरतें। अगर इससे ऊपर ब्लड प्रेशर हो तो डॉक्टर को दिखाएं। ब्लड प्रेशर की दवा लें।
  प्रश्न : मेरा ब्लड प्रेशर 130/ 82 रहता है, क्या दवा खाना बंद कर दूं, अजय कुमार, अरविंद कुमार इंदिरानगर
उत्तर : देखिए दवा खाना न बंद करें। डॉक्टर की सलाह से दवा लेते रहें और समय-समय पर ब्लड प्रेशर चेक करते रहें। क्योंकि अचानक तनाव बढऩे पर ब्लड प्रेशर तेजी से बढ़ता है।
प्रश्न : मेरे हार्ट में स्टंट पड़ा हुआ है। टलहता हूं तो बाएं चेस्ट में दर्द होता है, क्या करूं? सुनील ग्रोवर, एलडीए कालोनी
उत्तर : देखिए यह मांसपेशियों का दर्द भी हो सकता है। जब आप ज्यादा हार्ड वर्क करें और सीने में दर्द हो तभी यह हार्ट की समस्या होती है। आप जांच करवाएं हो सकता है विटामिन डी की कमी हो।
प्रश्न : अगर मुझे हृदय व शुगर की बीमारी से बचना है तो क्या करूं? जावेद हुसैन सआदतगंज
उत्तर : फास्ट फूड व तली-भुनी चीजें न खाएं, आधा घंटा जरूर टहले, मीठा खाने से परहेज करें। हरी सब्जी, फल का सेवन करें ताकि आपको पर्याप्त मात्रा में फाइबर मिल सके।
प्रश्न : मेरे पापा थोड़ा सा चलते हैं तो सांस फूलने लगती है उनके हार्ट में स्टंट पड़ा हुआ है, क्या करें? एससी अग्रवाल सदर
उत्तर : आप अपने पापा का इको टेस्ट करवाएं। जाड़े में सांस ज्यादा फूलती है। ऐसे में इन्हें ढंग से कपड़े पहनाएं और सुबह-सुबह मार्निंग वॉक पर न भेजें। डॉक्टर की सलाह से दवा की डोज बढ़ाएं।
प्रश्न : मुझे वर्ष 2002 से डायबिटीज  है। मेरे दोनों पैर सुन्न हो जाते हैं। क्या करूं? राणा प्रताप सिंह, हरदोई
उत्तर : आपको डायबिटीज के कारण न्यूरोपैथी हो गई है। इसमें नसे क्षतिग्रस्त हो जाती हैं। आप डायबिटीज के डॉक्टर के साथ-साथ न्यूरोलॉजिस्ट को भी दिखाएं। हो सकता है आपको विटामिन बी 12 की कमी हो।
प्रश्न : मेरे भाई को डायबिटीज है और उम्र 50 वर्ष है जिस तरह आंख फड़कती है, उस तरह उनके अंग अचानक फड़कते हैं। फराह, गोमतीनगर
उत्तर : यह विटामिन डी व कैल्शियम की कमी के कारण होता है। ब्लड की जांच करवाएं और डॉक्टर की सलाह पर दवा लें। घबराने की कोई बात नहीं।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस