लखनऊ, जेएनएन। यदि आप पॉलीटेक्निक में प्रवेश के लिए आवेदन नहीं कर सकें हैं तो आवेदन कर दीजिए। 30 अप्रैल के बाद आवेदन प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद पहले ही अंतिम तिथि 15 अप्रैल से बढ़ाकर 30 अप्रैल कर चुका है। अब तक सवा दो लाख से अधिक आवेदन हो चुके हैं। 

58 ट्रेडों की होगी परीक्षा : पिछले वर्ष ग्रुप के की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा की सफलता के बाद इस बार पॉलीटेक्निक की सभी 58 ट्रेडों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षाएं होंगी। ए से के ग्रुप तक की प्रवेश परीक्षा 15 से 20 जून तक प्रस्तावित है। परीक्षा से पहले संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की वेबसाइट jeecup.nic.in पर आनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 अप्रैल है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की ओर से सभी जिलों में प्रवेश परीक्षा होगी। आननलाइन सुविधा को लेकर केंद्रों के निर्धारण के लिए तलाश शुरू हो गई है। पहले चरण में 42 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाने पर सहमति बनी है। अन्य जिलों में केेंद्रों की तलाश की जा रही है। कंप्यूटर के साथ ही परीक्षा की जिम्मेदारी निजी एजेंसी को दी जाएगी।

'पॉलीटेक्निक प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया चल रही है। पहली बार पूरे प्रदेश में सभी ग्रुपों की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा होगी। आवेदन की अंतिम तिथि 30 अप्रैल है। परीक्षा केंद्रों के निर्धारण का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है।    - राम रतन, प्रभारी सचिव, संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद

पॉलीटेक्निक पर एक नजर

  • सरकारी संस्थान-150
  • सहायता प्राप्त संस्थान-19
  • निजी संंस्थान-1202

कुल सीटें 

  • ए ग्रुप-112442
  • बी से के ग्रुप-7085
  • फॉर्मेसी-15153 

आंबेडकर विवि में आनलाइन पढ़ाई - काेरोना संक्रमण को देखते हुए बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय द्वारा आनलाइन माध्यम से ही विद्यार्थियों की कक्षाएं आयोजित हो रही हैं। विद्यार्थियों के पठन-पाठन से संबंधित सामग्री भी विश्वविद्यालय द्वारा आनलाइन उपलब्ध कराने का निर्देश कुलपति प्रो.संजय सिंह ने दिए हैं। विश्वविद्यालय द्वारा एमपीडीसी - (बेसिक्स ऑफ कंप्यूटर) एवं (कम्युनिटी सर्विसेज) तथा एईसीसी- (एनवायर्नमेंटल स्टडीज) विषय से संबंधित स्टडी मटेरियल आनलाइन, विश्वविद्यालय की वेबसाइट के फाउंडेशन कोर्स सेक्शन में अपलोड किया गया है। विश्वविद्यालय के समस्त विभागों के विभागाध्यक्षों से भी अनुरोध किया गया है कि वे भी इसकी सूचना अपने विद्यार्थियों को प्रदान करें, ताकि सभी विद्यार्थियों को समय से काेर्स उपलब्ध हो सके। शासन द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप विवि में 50 प्रतिशत कर्मचारियों को रोस्टर के आधार पर दफ्तर आने की अनुमति प्रदान की गई है।  

Edited By: Anurag Gupta