सुलतानपुर, जागरण संवाददाता। लखनऊ से वाराणसी जा रहा शव वाहन बीती रात सुलतानपुर में बेसहारा गोवंश से टकराकर पलट गया। हादसे में चालक समेत दो लोगों की मौत हो गई। इस दौरान एक कार भी गोवंश से टकरा गई। दोनों वाहनों में सवार 11 लोग जख्मी हुए हैं। 

लखनऊ के हैदरगंज चौराहा के पास लक्ष्मणगंज निवासी केदार नाथ मिश्र की पत्नी राजरानी मिश्र की सोमवार को मौत हो गई थी। देर रात उनका पार्थिव शरीर लेकर परिवारजन व रिश्तेदार वाराणसी के लिए रवाना हुए थे। इसके लिए मेडिकल कालेज के समीप से शव वाहन किराये पर लिया गया था। वाहन को बहराइच जिले का करमुल्लापुर निवासी ओमकार यादव चला रहा था।

वाहन में शिवनगर खदरा निवासी राजेन्द्र अवस्थी, इटौंजा के ढिलवासी के राजेन्द्र कुमार त्रिवेदी, हनुमानपुर- त्रिवेणीनगर के केपी शुक्ल, गढ़ी कनौरा आलमबाग के घनश्याम मिश्र, फैजुल्लागंज मड़ियांव के अखिलेश मिश्र , लक्ष्मणगंज तालकटोरा के शशिभूषण मिश्र, आरडी शुक्ल, चक्रपाणि शुक्ल, शिव बालक शुक्ल, सत्य प्रकाश मिश्र, देवांश मिश्र सवार थे। शव वाहन के पीछे अलीगंज लखनऊ निवासी पवन मिश्र अकेले कार से जा रहे थे। 

बीती रात के करीब दो बजे वाहन दियरा रोड ओवरब्रिज पार किया ही था कि अचानक एक बेसहारा गोवंश निर्माणाधीन फोरलेन पर पहुंच गया। गोवंश से टकरा कर तेज रफ्तार मिनी बस सड़क पर ही पलट गई। इससे चीख पुकार मच गई।

टक्कर की आवाज सुनकर सड़क के दोनों तरफ मौजूद घरों से निकल कर लोग सड़क पर पहुंचे तो बस में सवार लोग फंसे हुए थे। इसी बीच पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। ग्रामीणों की मदद से घायलों को निकाला जा रहा था। इसी दौरान पवन मिश्र की कार भी सड़क पर मृत पड़े गोवंश से टकरा कर पलट गई। बस व कार में सवार लोगों को निकालने के बाद उन्हें स्थानीय सीएचसी में भर्ती कराया गया।

वहां राजेन्द्र अवस्थी व चालक ओमकार यादव को मृत घोषित कर दिया गया। गम्भीर रूप से घायल राजेन्द्र कुमार त्रिवेदी, केपी शुक्ल, चक्रपाणि शुक्ल, सत्य प्रकाश मिश्र को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। अस्पताल में वरिष्ठ उपनिरीक्षक प्रभाकांत तिवारी ने बताया कि अभी तहरीर नहीं मिली है।

वृद्धा का धोपाप में हुआ अंतिम संस्कार : हादसे के बाद पुलिस की सलाह पर परिवारजन ने वृद्धा के शव का अंतिम संस्कार यहां गोमती नदी के किनारे धोपाप में कर दिया। पुलिस ने इसके लिए वाहन भी उपलब्ध कराया।

Edited By: Vrinda Srivastava