लखनऊ, जागरण संवाददाता। लखनऊ विकास प्राधिकरण (लविप्रा) का बुलडोजर जल्द ही गरजेगा। नवनियुक्त लविप्रा उपाध्यक्ष डा. इंद्रमणि त्रिपाठी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि अवैध निर्माण पर लविप्रा सख्त कार्रवाई करने जा रहा है। अनियोजित कालोनी हो या फिर नियोजित कालोनी। अवैध निर्माण कर रहे लोगों पर प्रवर्तन टीम चरणबद्ध तरीके से कार्रवाई करेगी। सभी जोनल अफसरों को अपने अपने क्षेत्रों में अवैध निर्माण पर लगाम लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने स्पष्ट कहा कि पिक एंड चूज की कार्रवाई स्वीकार नहीं की जाएगी।

एक्शन एक तरफ से होगा। उन्होंने कहा कि जबरन किसी को नहीं छेड़ा जाएगा, लेकिन जिसने अवैध निर्माण किया है उसे छोड़ा भी नहीं जाएगा। शमन शुल्क, कपाउंडिंग की गुंजाइश होगी तो जरूर किया जाएगा, अन्यथा कार्रवाई तय है। उन्होंने पार्किंग जरूरी बताया है। लविप्रा में प्रवर्तन जोन छह के अंतर्गत आने वाले वह इलाका है जहां तेजी से अवैध रूप से बिल्डर अपनी अवैध इमारतें खड़ी कर रहे हैं। इसी के अंतर्गत डालीगंज भी है। सड़क के बाए तरफ बनी काम्प्लेक्स को अवैध रूप से खड़ा कर दिया गया है।

इसके बेसमेंट में पार्किंग की जगह दुकानें बनी हुई हैं, एचबी आप्टिकल, लल्ला ट्रेड जैसी कई दुकाने हैं। इस क्षेत्र में अवर अभियंताओं एके महेंद्रा हैं, महेंद्रा कहते हैं चंद सप्ताह पहले उन्हें चार्ज मिला है। यह निर्माण पहले के हैं। जोन चार के निशातगंज स्थित गुड बेकरी के पास भी स्थिति देखने वाली हैं, यहां लाइन से अवैध निर्माण है। सड़क पर पार्किंग है। यहां अभियंताओं ने नियमों की धज्जियां उड़ाई हैं। यहां के अवर अभियंता जेएन दुबे हैं। गोमती नगर के पत्रकारपुरम चौराहे के पास स्थित विनय खंड में भी लिबर्टी का शोरूम है। इसके अलावा मोबाइल के कई शोरूम बने हैं। वर्तमान में यहां जेई एस शर्मा हैं।

Edited By: Vikas Mishra