Move to Jagran APP

यूपी के इस शहर में बुलडोजर ने मचाई तोड़-फोड़… रोकने के लिए सड़क पर आ गए लोग, खलबली मचते ही सामने आ गई हकीकत

कुकरैल नदी पर कब्जा करके अवैध रूप से बसाए गए अकबरनगर के ध्वस्तीकरण के दौरान उस समय हंगामा हो गया जब कुछ लोगों ने माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की। एक धार्मिक स्थल को तोड़ने की अफवाह कुछ शरारती तत्वों ने फैला दी। कुछ ही देर में आसपास के लोग जुट गए। हकीकत पता चलने के बाद मामला शांत हो गया।

By Nishant Yadav Edited By: Shivam Yadav Published: Wed, 12 Jun 2024 12:28 AM (IST)Updated: Wed, 12 Jun 2024 12:28 AM (IST)
अकबरनगर में अतिक्रमण हटाने के दौरान। जागरण

जागरण संवाददाता, लखनऊ। कुकरैल नदी पर कब्जा करके अवैध रूप से बसाए गए अकबरनगर के ध्वस्तीकरण के दौरान उस समय हंगामा हो गया जब कुछ लोगों ने माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की। एक धार्मिक स्थल को तोड़ने की अफवाह कुछ शरारती तत्वों ने फैला दी। कुछ ही देर में आसपास के लोग जुट गए। 

हकीकत पता चलने के बाद मामला शांत हो गया। कुछ लोगों को हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा। मंगलवार को 12 पोकलैंड मशीन और 11 जेसीबी से 105 अवैध तोड़े गए। इस दौरान एक जेसीबी पलट भी गई।

धार्मिक स्थल को तोड़े जाने की अफवाह

सोमवार से अकबरनगर द्वितीय में एलडीए ने अवैध निर्माण को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू की है। एलडीए ने सोमवार को 48 अवैध निर्माण को तोड़ दिया था। मंगलवार को भी एलडीए के जेसीबी और पोकलैंड अवैध निर्माण को गिराने में जुट गए। कुकरैल नदी की तरफ अवैध आवासीय निर्माण को तोड़ा जा रहा था। 

इसी बीच एक धार्मिक स्थल के ठीक बगल वाला अवैध निर्माण तोड़ा गया। कुछ लोगों ने धार्मिक स्थल को तोड़े जाने की अफवाह फैला दी। कुछ ही देर में जेसीबी को रोकने के लिए कई लोग आ गए। 

इसका फायदा उठाकर गली के भीतर पत्थर चलाकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई। एलडीए उपाध्यक्ष डाॅ. इंद्रमणि त्रिपाठी और डीसीपी सेंट्रल रवीना त्यागी मौके पर पहुंच गईं। उन्होंने पहले तो लोगों को शांत कराकर वहां से हटाया। 

कुछ शरारती तत्व हटने का नाम नहीं ले रहे थे, उन पर हल्का बल प्रयोग किया गया। इस बीच एलडीए के दस्ते ने अवैध व्यावसायिक इमारतों को तोड़कर गलियों तक पहुंचने का रास्ता बनाया। अवैध निर्माण के ध्वस्त होने के बाद कई लोग उनकी सरिया, दरवाजे और खिड़की निकालने पहुंच गए।

यह भी पढ़ें: UP Cabinet Meeting: IIT कानपुर में खुलेगा स्कूल ऑफ मेडिकल रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी, कैब‍िनेट से म‍िली मंजूरी


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.