लखनऊ, जेएनएन। Coronavirus: सदर की मस्जिद में पकड़े गए तब्लीगी समाज के लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। ऐसे में एक किमी के दायरे में सैनिटाइजेशन-स्क्रीनिंग का कार्य किया जा रहा है। सुबह पहुंची हेल्थ टीम का कसाईबाड़ा में विशेष समुदाय के लोगों ने विरोध किया। ऐसे में असफर फोर्स के साथ पहुंचे। यह देख लोगों के तेवर ढीले हुए। इसके बाद जांच व ट्रैवल हिस्ट्री देने को राजी हुए।

सदर की मस्जिद में तब्लीगी समाज के लोग ठहरे थे। यहां पुलिस ने छापामारी कर बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया। दर्जनभर से अधिक लोगों में केजीएमयू की लैब में वायरस की पुष्टि हो चुकी है। ऐसे में क्षेत्र को ब्लॉक कर सैनिटाइज व स्क्रीनिंग की जा रही है। इसके लिए हेल्थ टीम, नगर निगम, पुलिस व जिला प्रशासन की टीम लगी है। 

शनिवार को आठ हजार से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की गई। वहीं, रविवार सुबह भी क्षेत्र में हेल्थ टीम पहुंची। कसाईबाड़ा मोहल्लों में घरों से महिलाएं, युवक एकजुट हो गए। वह हेल्थ टीम का विरोध करने लगे। इस दौरान हेल्थ टीम के साथ सिर्फ एक पुलिस कर्मी मौजूद था। मामला बढ़ते देख अफसरों की सूचना दी गई। मौके पर एसीएमओ डॉ. एमके सिंह व जिला प्रशासन के अफसर मय फोर्स पहुंचे। लोगों को समझाया। बावजूद विरोध जारी रहा। इसका बाद कड़ी नसीहत दी गई, तो सभी ब्योरा देने के लिए राजी हुए।

13 हजार लोगों की स्क्रीनिंग 

सदर में रविवार को 62 टीम लगाई गईं। एक टीम में चार सदस्य रहे। ऐसे में 2,824 घरों का ब्योरा जुटाया गया। इसमें पॉजिटिव आए मरीज के संपर्क, विदेश की ट्रैवल हिस्ट्री व उनकी सर्दी-जुकाम, बुखार जैसे लक्षण की जानकारी ली गई। सोमवार को भी अभियान चलेगा। रिपोर्ट सीएमओ कार्यालय भेज दी गई है।

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस