लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के सीतापुर के बिसवां विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक महेंद्र प्रताप सिंह और विधान भवन के गेट नंबर नौ पर तैनात विधान भवन रक्षक सर्वेंद्र सिंह राठौर आपस में भिड़ गए। घटना बीते बुधवार को दोपहर सवा दो बजे की है। विधायक ने घटना की लिखित शिकायत प्रमुख सचिव विधानसभा से की है। वहीं, अभद्रता व मारपीट का आरोप लगा विधासभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से विधायक के खिलाफ लिखित शिकायत की गई है।

विधायक महेंद्र प्रताप सिंह का आरोप है कि विधान भवन रक्षक ने जानबूझकर बड़े गेट का पल्ला नहीं खोला, जिसके कारण उनके वाहन को अंदर लाने में काफी कठिनाई हुई। वह गेट का दूसरा पल्ला नहीं खुल पाता यह कहकर उसे खोलने से इनकार कर रहा था। विधायक का कहना है कि जब किसी तरह गाड़ी अंदर घुसी तो उन्होंने खुद उतरकर दूसरा पल्ला खोला तो वह आसानी से खुल गया, इस पर उन्होंने नाराजगी जताई और उसकी लिखित शिकायत प्रमुख सचिव विधानसभा से की है।

उधर, विधान भवन रक्षक सर्वेंद्र सिंह राठौर का कहना है कि जिस समय विधायक अपने चार पहिया वाहन यूपी 32 जेटी 7200 से आए उसी समय गेट नंबर नौ पर एंबुलेंस आई थी। ऐसे में एंबुलेंस में बैठे कर्मियों की सुरक्षा जांच की जा रही थी। इस गेट का दूसरा पल्ला नहीं खुल पाता है। बहरहाल, उत्तर प्रदेश सचिवालय संघ की ओर से विधायक पर अभद्रता व मारपीट का आरोप लगाते हुए विधासभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से लिखित शिकायत की गई है।

उत्तर प्रदेश सचिवालय संघ के अध्यक्ष यादवेंद्र मिश्रा का कहना है कि पूरी घटना गेट नंबर नौ पर लगे सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गई है। विधायक ने गाड़ी से उतरकर विधान भवन रक्षक सर्वेंद्र सिंह राठौर की पिटाई की और अभद्रता की है। उसने सिर्फ इतना कही कहा था कि गेट का दूसरा पल्ला नहीं खुल पाता है। इस मामले में कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस