Move to Jagran APP

यूपी विधानसभा चुनाव 2022: सपा को बड़ा झटका, रमा निरंजन समेत चार एमएलसी भाजपा में शामिल

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 भारतीय जनता पार्टी में समाजवादी पार्टी के बड़े नेता शामिल हो गए। इनमें चार एमएलसी हैं जिन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया है। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डा. दिनेश शर्मा की मौजूदगी में नेताओं ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

By Umesh TiwariEdited By: Published: Wed, 17 Nov 2021 11:28 AM (IST)Updated: Wed, 17 Nov 2021 07:46 PM (IST)
विरोधी खेमे में सत्ताधारी दल ने लगाई बड़ी सेंध, पश्चिम के पुराने नेता हैं नरेंद्र भाटी।

लखनऊ, जेएनएन। UP Assembly Election 2022:  विधान सभा चुनाव करीब आते-आते दूसरे दलों में सेंधमारी और दलबदल का खेल भी जोर पकड़ता जा रहा है। पिछले दिनों भाजपा के एक विधायक को सपा ने तोड़ा तो अब भगवा खेमे ने मुख्य विपक्षी को झटका दिया है। सपा के चार विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) बुधवार को पाला बदलकर सत्ताधारी दल के साथ आ गए। स्थानीय निकाय के यह चारों जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र में ठीक-ठाक प्रतिष्ठा रखते हैं।

मिशन 2022 की रणनीति में जातीय समीकरणों के साथ भाजपा क्षेत्रीय संतुलन भी साधने में जुटी है। नई सदस्यता के लिए प्रदेश मुख्यालय में सजा मंच इसका साफ संदेश दे रहा था। जिन चार एमएलसी को भाजपा ने अपना पटका पहनाया है, उनमें सबसे ज्यादा चर्चा नरेंद्र भाटी की थी। पश्चिमी उत्तर में गुर्जर समाज के प्रमुख नेताओं में शामिल भाटी गौतमबुद्धनगर से विधायक और मंत्री रहे हैं। दूसरा नाम रविशंकर सि‍ंह का है। वह पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के बड़े भाई के प्रपौत्र हैं। उनके चाचा नीरज शेखर पहले से भाजपा में हैं। बलिया और आसपास के क्षेत्र में इस परिवार की राजनीति में खासी सक्रियता है। इसी तरह गोरखपुर के एमएलसी सीपी चंद्र ने भी पार्टी बदली है। उनके पिता मार्कंडेय चंद चार विधायक और मंत्री रहे हैं। वहीं, झांसी की रमा निरंजन ने भी अपने पति वरिष्ठ सपा नेता आरपी निरंजन के साथ भाजपा की सदस्यता ले ली। इन सभी को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सि‍ंह, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डा. दिनेश शर्मा ने सदस्यता दिलाई।

अब अखिलेश को नहीं आएगी नींद : स्वतंत्रदेव

स्वतंत्र देव सि‍ंह ने कहा कि कई दशकों से सपा के वफादार सिपाही और उस दल को ताकतवर बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले नरेंद्र भाटी के जुडऩे से भाजपा मजबूत होगी। उनके क्षेत्र में सपा का सफाया होगा। सीपी चंद की पार्टी में वापसी हुई है तो रमा निरंजन के आने से बुंदेलखंड में मजबूती मिलेगी। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अब सपा मुखिया अखिलेश यादव को नींद नहीं आएगी। साथ ही इन चारों से आव्हान किया कि अब चुन-चुनकर सपा के बूथ से मंडल स्तर तक के कार्यकर्ताओं को भाजपा में लाएं।

कई विधायक संपर्क में, दो-तीन दिन में आएंगे : दयाशंकर

भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सि‍ंह ने खुलकर दावा किया कि दूसरे दलों के कई विधायक, एमएलसी और बड़े नेता लगातार उनके संपर्क में हैं। बड़ी संख्या में मौजूदा विधायकों के भाजपा में आना तय हो चुका है। प्रदेश नेतृत्व में सदस्यता दिलाने के लिए समय मांगा है। संभवत: दो-तीन दिन में इन्हें पार्टी में शामिल करा देंगे।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.