लखनऊ, जेएनएन। Car Tips For Rainfall यूपी में बार‍िश तबाही मचा रही है। ऐसे बरसात के मौसम में पानी अगर आपकी कार मे गलत जगहों पर चला जाए तो आपको परेशानी हो सकती है। आप अपनी कार को बारिश में भीगने से नहीं रोक सकते, लेकिन जितना हो सके अपने वाहन को वाटरप्रूफ करने के लिए कदम उठा सकते हैं। हमने कुछ टिप्स और ट्रिक्स बनाए हैं जिनका उपयोग आप अपनी कार को वाटरप्रूफ करने के लिए कर सकते हैं।

बार‍िश में कार चलाने से पहले चेक करें टायर

गाड़ी चलाते समय कार के टायरों का वास्तव में सबसे महत्वपूर्ण काम होता है। खासकर जब आप बारिश में गाड़ी चलाना चुनते हैं। जब आप बारिश में गाड़ी चलाते हैं, तो आपके टायर अच्छी स्थिति में होने चाहिए। गीली सड़कें रबर के टायरों के लिए क्रिप्टोनाइट की तरह होती हैं और ड्राइव शुरू करने से पहले आपको इसे ध्यान में रखना चाहिए। यह देखने के लिए कि क्या वे गीली, फिसलन भरी सड़कों पर प्रबंधन करने में सक्षम होंगे या नहीं, हमेशा चारों टायरों पर टायर के चलने की जांच करें। यदि आपके टायरों पर ट्रेड 1.6 मिमी से कम है, तो नए टायर लेने का यह एक अच्छा समय हो सकता है।

बार‍िश में विंडशील्ड को हमेशा रखें साफ

बारिश के दौरान ड्राइविंग करने से द‍िखने की समस्या हो सकती है क्योंकि बारिश की बूंदें विंडशील्ड पर फैल जाती हैं। हालांकि, विंडशील्ड पर एंटी वाटर प्रोडेक्‍ट का उपयोग करके इसे रोका जा सकता है जो पानी की बूंदों को लुढ़कने का कारण बनते हैं और आपके देखने की क्षमता को धुंधला कर देते हैं। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी कार के बारिश में बाहर होने के तुरंत बाद अपनी विंडशील्ड को साफ करें।

बार‍िश में कार चलाने से पहले चेक करें लाइट

हेडलाइट्स और टेललाइट्स न केवल आपके रास्ते को रोशन करने के लिए महत्वपूर्ण हैं, बल्कि अन्य ड्राइवरों को आपके स्थान के बारे में बताने के लिए भी महत्वपूर्ण हैं। यह तब और भी महत्वपूर्ण हो जाता है जब बारिश हो रही हो क्योंकि कम द‍िखाई देने से सड़क पर चालकों की दृष्टि प्रभावित हो सकती है, जिससे दुर्घटना की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए, यह सर्वोपरि है कि आप बाहर जाने से पहले जांच लें कि आपकी कार की लाइटें ठीक से काम कर रही हैं या नहीं।

बार‍िश में कार चलते हैं तो बैटरी का रखें खास ध्‍यान

आमतौर पर कार की बैटरी औसतन लगभग 5 साल तक चलती है। हालांकि, बारिश के मौसम में ठंड और उमस से होने के कारण यह एक से दो साल तक कम हो जाता है। यदि आपको अपनी कार शुरू करने में कठिनाई हो रही है, लाइट चालू नहीं कर पा रहे हैं, या कोई अन्य समान संकेत दिखाई दे रहा है, तो इस बात की बहुत अधिक संभावना है कि आपकी कार की बैटरी या तो समाप्त हो रही है या फूला हुआ है। तूफान के बीच में फंसे होने से बचने के लिए, इस तरह के चेतावनी के संकेत मिलने पर कार की बैटरी को बदलना बेहतर है।

ब्रेक स‍िस्‍टम को कार चलाने से पहले करें टेस्‍ट

आपकी कार का एक प्रमुख स‍िस्‍टम जो मानसून आने पर प्रभावित होता है, वह है इसका ब्रेकिंग सिस्टम। इसलिए, वाहन चलाते समय किसी भी जोखिम से बचने के लिए उनका उचित ध्यान रखा जाना चाहिए। ब्रेक कम प्रभावी हो जाते हैं जब वे नम हो जाते हैं, इसलिए आपको कार को जल्द से जल्द पानी से बाहर निकालना चाहिए। यदि आपके ब्रेक नम हो गए हैं, तो आप ब्रेक पैड को सुखाने के लिए ब्रेक लगाते समय धीरे-धीरे गति बढ़ा सकते हैं। यदि समस्या बनी रहती है, तो आपको तुरंत किसी मैकेन‍िक से समस्या का समाधान करवाना चाहिए।

पानी में फंसे कार तो करें ये काम

बार‍िश के मौसम के अगर पानी में होकर गाड़ी निकालते समय गाड़ी बंद हो जाए तो गाड़ी को दोबारा स्टार्ट करने की कोशिश न करें। ईंजन में पानी जाने से गाड़ी का ईंजन सीज भी हो सकता है। साथ ही अगर पानी में फंसी गाड़ी को बार-बार स्टार्ट करने की कोशिश की जाए, तो एग्जास्ट से होकर और ज्यादा पानी ईंजन तक पहुंच सकता है और ईंजन को अधिक नुकसान पहुंचा सकता है। पानी में फंसी गाड़ी का बोनट खोलने की गलती भी न करें। ऐसा करके आप पानी को गाड़ी में जाने का रास्ता दे देंगे। ऐसी स्थिति में गाड़ी को किसी अन्य गाड़ी से खींचकर बाहर निकालना ही बेहतर होगा।

Edited By: Prabhapunj Mishra