मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। यूपी सरकार की कैबिनेट ने विश्वविद्यालयों में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के रोकथाम से संबंधित एक अध्यादेश लाने की मंजूरी दी है। विश्वविद्यालय में किसी भी देश विरोधी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके तहत विश्वविद्यालयों में राष्ट्र विरोधी गतिविधियां प्रतिबंधित होंगी। ऐसी गतिविधि के पाये जाने पर इसे विश्वविद्यालय की स्थापना की शर्तों का उल्लंघन मानते हुए सरकार कार्रवाई कर सकती है।

विश्वविद्यालय में देश विरोधी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं : केशव

प्रदेश कैबिनेट का मानना है कि विश्वविद्यालयों में केवल शिक्षा से संबंधित कार्य ही होना चाहिए। राष्ट्रविरोधी गतिविधियों को संचालित करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि विश्वविद्यालयों में राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को चलने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि हमारे मंत्रिमंडल ने यह निर्णय लिया है कि विश्वविद्यालयों में केवल शिक्षा दी जानी चाहिए। विश्वविद्यालय में किसी भी देश विरोधी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

यूपी कैबिनेट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पीआरओ यूएस पीरजादा ने कहा है कि विश्वविद्यालय परिसर में राष्ट्र विरोधी गतिविधियों की अनुमति नहीं दी जाएगी। परिसर में ऐसी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि एएमयू में तो छात्रों में राष्ट्रवादी विशेषताओं को और प्रेरित किया जाता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप