Move to Jagran APP

शिक्षकों की परेशानी समझ गए Akhilesh Yadav, ऑनलाइन हाजिरी को लेकर योगी सरकार को दे दी नसीहत

परिषदीय स्कूलों में आनलाइन उपस्थिति दर्ज कराने पर अखिलेश यादव ने शिक्षकों का पक्ष लेते हुए कहा कि पहले इसे सभी विभागों के प्रशासनिक मुख्यालयों पर लागू किया जाए ताकि उच्चाधिकारियों को इसके व्यावहारिक पक्ष व परेशानियों की जानकारी हो सके। फिर समस्या समाधान के बाद ही इसे लागू किया जाए। सबसे बड़ी बात यह कि इससे शिक्षकों को भावनात्मक ठेस पहुंची है।

By Ashish Kumar Trivedi Edited By: Aysha Sheikh Tue, 09 Jul 2024 09:25 PM (IST)
अखिलेश यादव और सीएम योगी आदित्यनाथ। फाइल फोटो

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। परिषदीय स्कूलों में आनलाइन उपस्थिति दर्ज कराने का विरोध कर रहे शिक्षकों के पक्ष में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मैदान में उतर आए हैं। उन्होंने मंगलवार को इंटरनेट मीडिया एक्स पर पोस्ट किया कि शिक्षकों पर भरोसा करें और उनसे आनलाइन उपस्थिति दर्ज न कराई जाए। शिक्षकों पर विश्वास करने से ही अच्छी पीढ़ी जन्म लेती है।

कोई भी शिक्षक देर से विद्यालय नहीं पहुंचना चाहता लेकिन सार्वजनिक परिवहन का देर से चलना इसका कारण बनता है। कहीं रेलवे के बंद फाटक व कहीं घर से स्कूलों की पचासों किलोमीटर की दूरी होती है। उन्होंने यह भी लिखा कि शिक्षकों के पास स्कूल के करीब रहने के लिए कोई सरकारी आवास नहीं होते। न दूरस्थ इलाकों में किराए पर घर उपलब्ध होते हैं।

इससे अनावश्यक तनाव जन्म लेता है। मानसिक रूप से उलझा अध्यापक कभी जल्दबाजी में दुर्घटनाग्रस्त भी हो सकता है, जिसके कई उदाहरण मिलते हैं। यदि किसी आकस्मिक कारणवश शिक्षकों को व्यक्तिगत स्वास्थ्य या फिर घर, परिवार और सामाजिक कारणों से दिन के बीच में स्कूल छोड़ना पड़े तो पूरे दिन की अनुपस्थिति होने की रिपोर्ट भेज दी जाएगी। यह व्यावहारिक नहीं है।

अखिलेश ने दे दी ये नसीहत

पहले इसे सभी विभागों के प्रशासनिक मुख्यालयों पर लागू किया जाए ताकि उच्चाधिकारियों को इसके व्यावहारिक पक्ष व परेशानियों की जानकारी हो सके। फिर समस्या समाधान के बाद ही इसे लागू किया जाए। सबसे बड़ी बात यह कि इससे शिक्षकों को भावनात्मक ठेस पहुंची है।

वहीं दूसरी ओर सपा के विधान परिषद सदस्य आशुतोष सिन्हा ने भी इस व्यवस्था को तत्काल बंद करने की मांग को लेकर सरकार को पत्र लिखा है। वहीं सपा सांसद आनंद भदौरिया ने भी पत्र लिखकर इसकी आलोचना की है। आम आदमी पार्टी के शिक्षक प्रकोष्ठ के महासचिव अजय गुप्ता ने चेतावनी दी है कि शिक्षकों का उत्पीड़न हुआ तो आंदोलन किया जाएगा।

ये भी पढ़ें - 

...तो तैयार है BJP का प्लान-B, यूपी में हार के बाद इस कमी को दूर करेगी पार्टी; उपचुनाव में होगी कांटे की टक्कर!