लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में अब कुछ ही महीने बचे हैं। ऐसे में राज्य में राजनीतिक हलचल भी तेज हो गई है। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी से मोर्चा लेने के लिए भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाया है, लेकिन अब इस मोर्चे के भविष्य पर अब काले बादल मंडराते दिख रहे हैं। ओम प्रकाश राजभर के भाजपा के साथ चुनाव में सशर्त गठबंधन करने के ऐलान के बाद आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया है। उन्होंने कहा है कि वह भाजपा और कांग्रेस को छोड़कर किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन के लिए तैयार हैं।

एआइएमआइएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हमारी पार्टी ओम प्रकाश राजभर के भागीदारी संकल्प मोर्चा का हिस्सा है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव के साथ उनके आवास पर दो बैठकें भी की हैं। ओम प्रकाश राजभर और शिवपाल यादव दोनों से कह दिया है कि हम भाजपा और कांग्रेस को छोड़कर किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन के लिए तैयार हैं।

बता दें कि दो दिन पहले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा है कि वह विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ सशर्त गठबंधन करने को तैयार हैं। उन्होंने प्रदेश में सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करने और पूर्ण शराब बंदी सहित सात सूत्री मांग रखी है। राजभर ने कहा कि 27 अक्तूबर को मऊ के हलधरपुर में होने वाली भागीदारी संकल्प मोर्चा की महापंचायत  रैली में गठबंधन की घोषणा की जाएगी।

ओम प्रकाश राजभर का कहना है कि एआइएमआइएम को छोड़कर सभी घटक दल भाजपा के साथ जाने के लिए सहमत हैं। उन्होंने कहा है कि असदुद्दीन ओवैसी से वह इस मुद्दे पर बात करेंगे। राजभर के इस बयान के बाद एआइएमआइएम के नेता आसिम वकार ने भी साफ कर दिया है कि अगर ओम प्रकाश राजभर भाजपा के साथ गठबंधन करते हैं तो पार्टी भागीदारी संकल्प मोर्चा का हिस्सा नहीं रहेगी।

Edited By: Umesh Tiwari