लखनऊ, जेएनएन। रामपुर में भू-माफिया घोषित समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां के पक्ष में सपा के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव के खुलकर आने के बाद अब पार्टी ने भी मोर्चा संभाला है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव नौ सितंबर को रामपुर में आजम खां के पक्ष में प्रदर्शन करेंगे।

मुलायम सिंह यादव के मोर्चा पर आने के बाद अब अखिलेश यादव ने भी आजम खां के पक्ष में प्रदर्शन करने की योजना तैयार की है। अखिलेश यादव नौ सितंबर को रामपुर में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ जिला प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन की अगुआई करेंगे। वह नौ को आजम खां के खिलाफ दर्ज एफआईआर को उत्पीडऩ बताकर विरोध जताने रामपुर पहुंचेंगे। रात बिताकर सपाइयों का जमावड़ा लगाकर आगे की रणनीति तय करेंगे। माना जा रहा है कि अखिलेश यादव रामपुर में होने वाले विधानसभा उप चुनाव के लिए पार्टी के प्रत्याशी के नाम पर भी चर्चा करेेंगे।

अखिलेश यादव नौ सितंबर को लखनऊ से कार से दस बजे बरेली प्रस्थान करेंगे। बरेली में पार्टी के पूर्व विधायक सियाराम सागर के निधन पर उनके घर शोक संवेदना व्यकत करने के बाद शाम करीब चार बजे रामपुर पहुंचेंगे। रामपुर के पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में आगे का कार्यक्रम तय किया जाएगा। उनका नौ सितंबर को रामपुर के पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में रात्रि विश्राम का कार्यक्रम है।

समाजवादी पार्टी की तरफ से अखिलेश यादव के नौ सितंबर को रामपुर पहुंचने और पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में रात्रि विश्राम करने का प्रोग्राम भी जारी कर दिया गया है। रामपुर में अभी भी धारा 144 लागू है। खुफिया विभाग अलर्ट हो गया। प्रशासन भी टकराव की आशंका के चलते सतर्क है।

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आजम खां के समर्थन में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पार्टी कार्यकर्ताओं से संघर्ष करने का आह्वान किया था। मुलायम ने एसपी कार्यकर्ताओं और नेताओं से आजम खां के समर्थन में खड़े होने को कहा था। उन्होंने कहा था, पार्टी आजम खां के मामले में चुप नहीं बैठेगी। जरूरत पड़ेगी तो मैं भी आगे आऊंगा। आजम खां की बेइज्जती का कार्यकर्ता विरोध करें।

रामपुर से समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां के खिलाफ सरकारी तथा किसानों जमीन पर कब्जा करने के साथ ही बिजली चोरी, अतिक्रमण, भैंस चोरी तथा अभ्रद्र भाषा का प्रयोग करने के 80 से अधिक केस दर्ज हैं। उनके खिलाफ गिरफतारी का वारंट जारी हो गया है। तीन मामलों में कोर्ट से उनकी गिरफ्तारी का वारंट जारी हुआ है। आजम खां के न मिलने पर उनके घर के गेट पर नोटिस चस्पा किया है।

रामपुर में माहौल काफी गरम होने के बाद आजम खां की पत्नी और सपा से राज्यसभा की सदस्य तंजीम फातिमा ने लखनऊ में आकर पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की थी। इसके बाद मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आजम खां को बेकुसूर बताया था। मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि आजम खां के खिलाफ राजनीतिक विद्वेष के कारण कार्रवाई की जा रही है। 

रामपुर की विधानसभा सीट पर होना है उपचुनाव

राज्य की 13 विधानसभा की सीटों पर उपचुनाव होने हैं। इसमें एक सीट रामपुर की भी है। जहां से आजम विधायक थे। लिहाजा अखिलेश किसी भी हाल में नहीं चाहेंगे कि इस सीट पर पार्टी को हार का सामना करना पड़े। अब वह आजम के पक्ष में रामपुर में उतर कर उपचुनाव के लिए आजम का समर्थन हासिल करना चाहते हैं।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप