लखनऊ। आतंकवादी संगठनों के निशाने पर चल रहे अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई आज लखनऊ होते हुए कानपुर पहुंचेगे। उनकी सुरक्षा के लिए स्थानीय पुलिस के साथ अफगानी बल भी रहेगी। पायलट स्कार्ट के साथ ही अतिरिक्त स्कार्ट भी लगायी जाएगी। एडीजी एलओ दलजीत सिंह चौधरी ने मंगलवार को करजई की सुरक्षा व्यवस्था का अवलोकन किया और कानपुर व लखनऊ पुलिस की विशेष जिम्मेदारी निर्धारित की है। चौधरी ने अधिकारियों को हिदायत दी है कि करजई की सुरक्षा में किसी स्तर पर चूक नहीं होनी चाहिए।

मंगलवार को पुलिस महानिरीक्षक कानून-व्यवस्था भगवान स्वरूप ने पत्रकारों को बताया कि भारत सरकार के दिशा निर्देश के अनुरूप पूर्व राष्ट्रपति की सुरक्षा के इंतजाम किये गए हैं। यातायात, सभा स्थल, रात्रि प्रवास और एयरपोर्ट पर सुरक्षा के लिए पुलिस अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी गयी है। चूंकि वह दो मार्च को लखनऊ हवाई अड्डे से आइआइटी कानपुर के लिए सड़क मार्ग से प्रस्थान करेंगे इसलिए चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। उनके काफिले में किसी भी तरह की असुविधा न हो इसके लिए कानपुर, लखनऊ और उन्नाव की यातायात पुलिस को विशेष जिम्मेदारी सौंपी गयी है। करजई दो और तीन मार्च की रात कानपुर में रहेंगे। वह चार मार्च को लखनऊ वापस आकर हवाई मार्ग से दिल्ली जाएंगे। भगवान स्वरूप ने बताया कि वीआइपी का आइआइटी कानपुर में कार्यक्रम है। इसके अलावा किसी अन्य स्थल पर उनके भ्रमण का कोई कार्यक्रम नहीं आया है।

Posted By: Ashish Mishra