जागरण संवाददाता, लखनऊ : राजधानी में जिन राशन की दुकानों में घोटाला पकड़ा गया है उनका कोटा जांच पूरी होने तक निलंबित कर दिया गया है। तब तक राशन कार्ड धारकों को दूसरी दुकानों से राशन दिया जाएगा।

शासन के आदेश पर हुई जांच के बाद अब तक राजधानी में कुल 46 दुकानों के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद जिलाधिकारी की संस्तुति पर इनका कोटा निलंबित किया गया है। शेष 12 दुकानों का भी कोटा जल्द ही निलंबित कर दिया जाएगा।

कई और दुकानों तक फैले हैं घोटाले के तार

राजधानी में घोटाले के तार कई और दुकानों तक फैले हैं। जिलापूर्ति अधिकारी आमिर खान का कहना है कि जांच चल रही है। जहां पर भी गड़बड़ी मिलेगी, रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी। सूर्यकांत मोहनलालगंज और पल्लवी एसडीएम बीकेटी बनीं

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कई अधिकारियों के कार्यक्षेत्र बदल दिए हैं। दो एसडीएम के अलावा तहसीलदार भी बदले गए हैं। मोहनलालगंज एडीएम संतोष सिंह को गैरजनपद स्थानांतरण के बाद बीकेटी से सूर्यकांत त्रिपाठी को तैनाती दी गई है। बीकेटी में पल्लवी मिश्रा को एसडीएम बनाया गया है। तहसीलदारों के कार्यक्षेत्र में भी बदलाव किया गया। नायब तहसीलदार निखिल शुक्ला को प्रमोशन के बाद सरोजनीनगर में तहसीलदार न्यायिक बनाया गया है। बख्शी क तालाब में तहसीलदार न्यायिक डॉ.अरुणिमा श्रीवास्तव और सरोजनीनगर में तैनात राम नरायन वर्मा को राजकीय लेखपाल परिषद का प्रधानाचार्य बनाया गया है। डिप्टी कलेक्टर श्रृष्टि धवन को डिप्टी कलेक्टर राजस्व, पूजा मिश्र को अपर उप जिलाधिकारी सदर और संत कुमार एसीएम पंचम बनाया गया है।

----------------

दो मजिस्ट्रेटी जांच शुरू

जिला मजिस्ट्रेट ने एसडीएम पल्लवी मिश्र को दो मजिस्ट्रेटी जांच सौंपी हैे। 17 मई 2009 को बीबीडी इंजीनियरिंग कॉलेज के पास रोडवेज बस दुर्घटना और आठ सितंबर 2009 को काकोरी मार्ग पर बस दुर्घटना की जांच करने के निर्देश दिए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप