लखनऊ, जागरण संवाददाता। ला-मार्टिनियर ब्वायज कालेज में बुधवार दोपहर गदर दो की शूटिंग की तैयारी को लेकर बैठक के दौरान बवाल हो गया। जब जूनियर कलाकारों ने काम के बदले पैसे की जगह सिर्फ किराया व खाना देने की बात सुनी, तो हंगामा शुरू हो गया। हंगामा बढ़ता देख फिल्म की यूनिट काम समेट कर होटल वापस आ गई। वहीं, मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को शांत कराया। पुलिस के मुताबिक फिल्म में भीड़ के लिए लोगों को बुलाया गया था। कलाकारों ने रुपये न दिए जाने को लेकर हंगामा किया था। किसी ने लिखित शिकायत नहीं की है।

फिल्म में भीड़ दिखाने के लिए लोगों को गया था बुलाया : फिल्म समन्वयक जुबैर ने बताया कि शहर में गदर दो की शूटिंग शनिवार से होनी जा रही है। जिसको लेकर स्थानीय कलाकारों को भी लिया गया है। बुधवार को फिल्म में भीड़ दिखाने के लिए कुछ सह-कलाकारों को बुलाया गया था, जिसको लेकर करीब 150 स्थानीय कलाकार जुटे थे। जहां निर्देशक अनिल शर्मा के सहयोगियों ने भीड़ को रुपये देने की जगह सिर्फ खाना देने की बात कही। विरोध पर किराया और बढ़ाने की बात पर सहमत हुए। जिसके बाद कलाकारों ने हंगामा शुरू कर दिया। जिस पर फिल्म की टीम ने पुलिस को बुला लिया। साथ ही बिना किसी को रुपये दिए चले गए। यदि जल्द कलाकारों को पैसा नहीं दिया गया तो थाने पर लिखित शिकायत की जाएगी। गौतमपल्ली इंस्पेक्टर के मुताबिक किसी ने लिखित शिकायत नहीं की है। तहरीर मिलने पर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

शूटिंग देखने वालों से करा लेंगे एक्टिंग, यहां के लोग खाली : फिल्म की शूटिंग में भाग लेने आईं शबाना के मुताबिक कहा गया कि जो शूटिंग देखने आएंगे उनसे ही एक्टिंग करा लेंगे। तुम लोगों को खाना किराया पर काम करना है तो करो, वरना जाओ। इसी तरह यासिर बेग के अनुसार जुबैर फिल्म की शूटिंग के लिए लोगों को लाए थे। फिल्म वालों ने पैसे नहीं दिए तो हंगामा हुआ। कलाकार अर्चना भल्ला और वैभव का कहना है कि फिल्म के नाम पर कलाकारों का शोषण किया जा रहा है।

Edited By: Anurag Gupta