लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। आम आदमी पार्टी (आप) के यूपी प्रभारी व राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने सोमवार को कोरोना टेस्टिंग पर सवाल उठाते हुए इसमें धांधली का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जांच सिर्फ कागजों पर की जा रही है और यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी काबू में है। उन्होंने कहा कि बरेली में 956 गुमनाम लोगों की जांच हुई, जिनका न तो पता है और न ही मोबाइल नंबर।

आप नेता संजय सिंह ने कहा कि जिलों में फर्जी जांच का खेल चल रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार नो जांच नो कोरोना वायरस संक्रमण के फॉर्मूले पर काम कर रही है। उन्होंने कोरोना महामारी में उपकरण खरीद में बड़ा घोटाला किए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार के भूत जांच घोटाले ने पूरी दुनिया में भारत की छवि को खराब किया है, भूतों की कोरोना जांच कैसे होती है ये देखना है तो यूपी जाइए।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि पल्स ऑक्सीमीटर, पीपीई किट व थर्मामीटर आदि कई गुना दाम में खरीदे गए। जब घोटाला सामने आया तो एसआइटी गठित कर दी गई। यूपी में एसआइटी सफेद हाथी साबित हो रही है। वह प्रदेश सरकार के लिए सुरक्षा कवच का काम कर रही है। अभी तक किसी आरोपित के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। गड़बड़ियों को छिपाया जा रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप