लखनऊ (जागरण संवाददाता)। बैंक खाते से लेकर गैस सब्सिडी तक में आधार कार्ड की अनिवार्यता आम लोगों को भले ही भारी पड़ रही हो, लेकिन थोड़ी सी सक्रियता से आप अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं। जीपीओ के साथ ही राजधानी के अन्य उप मुख्य डाकघरों में कार्ड बनवाने की व्यवस्था स्थाई रूप से चल रही है। वोटर आइडी न होने के बावजूद आप स्थानीय पार्षद से फोटो प्रमाणित करा कर भी अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं।

राजधानी के आलमबाग, चौक, गोमतीनगर, कपूरथला, राजभवन के सामने और जनपथ मार्केट हजरतगंज के साथ ही कई साइबर कैफे में भी आधार कार्ड आसानी से बनवाया जा सकता है। 31 मार्च तक बैंक से लेकर मोबाइल फोन, पैन कार्ड से लेकर गैस सिलेंडर सब्सिडी तक में आधार कार्ड कार्ड अनिवार्य हो गया है। ऐसे में समय से पहले आप थोड़ा समय देकर इसे बनवा सकते हैं। आपके पास यदि कोई भी दस्तावेज नहीं है स्थानीय पार्षद से फोटो युक्त निवास प्रमाण पत्र बनवा कर आधार कार्ड बनवाया जा सकता है। कार्वी की ओर से शहर के मुख्य स्थानों पर सेंटर खोलकर आधार कार्ड बनाने का कार्य हर कार्य दिवस पर किया जाता है।

आधार में लगने वाले दस्तावेज

आधार कार्ड बनवाने के लिए आपके पास मतदाता पहचान पत्र, डीएल या पासपोर्ट होना चाहिए। जन्मतिथि के लिए हाईस्कूल का प्रमाण पत्र और निवास के लिए बैंक पास बुक और बिजली का बिल (आधार कार्ड बनवाने वाले के नाम बिजली कनेक्शन होना चाहिए) के साथ आप नजदीकी आधार केंद्र पर अपना आधार कार्ड बनवा सकते हैं।

सावधानी से भरे आवेदन

आधार केंद्र पर आवेदन करते समय नाम की स्पेलिंग के साथ ही जन्मतिथि और पता सही-सही भरें। ऐसा न करने पर आपको दुबारा संशोधन के लिए आवेदन करना होगा। बायोमीट्रिक के लिए आपको आधार केंद्रों पर जरूर जाना पड़ेगा।

आधार कार्ड में संशोधन की दुश्वारियां

आधार कार्ड बनने के साथ ही संशोधन की दुश्वारियां आम लोगों पर भारी पड़ती हैं। पता संशोधन से लेकर जन्म तिथि के संशोधन तक में 25 रुपये के निर्धारित शुल्क के बावजूद लोगों से 100 से 200 रुपये की वसूली की जाती है। कानपुर रोड के टेक्निकल इंटर कॉलेज के सामने आधार केंद्र पर भी मनमानी वसूली के मामले सामने आए। 40 रुपये निर्धारित शुल्क के स्थान पर 100 रुपये लिए जाते हैं जबकि प्लास्टिक कार्ड 100 से 200 रुपये में बनाया जाता है। कार्ड संबंधी जानकारी के लिए कार्ड पर लिखा टोलफ्री नंबर 18001801947 न उठने से भी परेशानी होती है।

By Jagran