लखनऊ, जेएनएन। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण उत्तर प्रदेश में तेजी से नियंत्रित हो रहा है। प्रदेश में 75 में से 31 जिलों में अब एक भी एक्टिव केस नहीं है। बीते 24 घंटे में एक लाख 74 हजार से अधिक सैंपल की टेस्टिंग के बाद 18 नए संक्रमित मिले हैं जबकि 14 लोग इसके संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ भी हो गए हैं।

प्रदेश में 24 घंटे में हुई एक लाख 74 हजार 632 सैम्पल की टेस्टिंग में 63 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया। इस दौरान मात्र 18 नए संक्रमित मिले हैं। इसी अवधि में 14 लोग स्वस्थ भी हो गए हैं। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 177 रह गई है, जबकि 16 लाख 86 हजार 726 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में अब तक सात करोड़ 81 लाख 42 हजार 992 सैम्पल की कोविड जांच की जा चुकी है। औसतन हर दिन ढाई लाख से अधिक टेस्ट हो रहें हैं, जबकि दैनिक पॉजिटिविटी दर 0.01 से भी कम और रिकवरी दर 98.8 फीसदी है। यह सतर्कता और सावधानी बरतने का समय है। थोड़ी सी लापरवाही संक्रमण को बढ़ाने का कारक बन सकती है।

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश में ट्रैक, टेस्ट और ट्रीटमेंट की रणनीति से जहां संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण बना है। दस करोड़ 39 लाख 55 हजार वैक्सीन लगाकर उत्तर प्रदेश कोविड टीकाकरण में भी देश में प्रथम स्थान पर है। विगत दिवस एक दिन में 36 लाख 68 हजार 183 लोगों को टीकाकवर मिला। यह देश के किसी राज्य में एक दिन में हुआ सर्वाधिक कोविड टीकाकरण है।

प्रदेश में लगातार कोशिशों से कोरोना की दूसरी लहर पर बने प्रभावी नियंत्रण के बीच जनजीवन तेजी से सामान्य हो रहा है। प्रदेश के 31 जनपदों अलीगढ़, अमेठी, अमरोहा, औरैया, अयोध्या, बदायूं, बागपत, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बिजनौर, चन्दौली, चित्रकूट, फतेहपुर, गाजीपुर, गोंडा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, कानपुर देहात, कासगंज, महोबा, मीरजापुर, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, रामपुर, संतकबीरनगर, शामली, श्रावस्ती व सोनभद्र में कोविड का एक भी एक्टिव केस नहीं है।

प्रदेश में टीकाकवर के लिए आमजन की जागरूकता भी बढ़ी है। अब तक प्रदेश में 8 करोड़ 42 लाख 80 हजार लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी के 57 फीसदी से ज्यादा है। दूसरी डोज लगाने के लिए विशेष अभियान की जरूरत है। इस दिशा में नियोजित कार्यवाही की जाए। वैक्सीन की उपलब्धता बनाए रखने के लिए भारत सरकार से सतत संवाद-संपर्क बनाए रखें। 

Edited By: Dharmendra Pandey