लखनऊ, [राज्य ब्यूरो]। कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश में चलाया जा रहा टीकाकरण अभियान युवाओं के जोश के कारण तेजी से परवान चढ़ रहा है। जून में एक करोड़ टीके लगाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, लेकिन टीकाकरण की रफ्तार बता रही है कि इससे कहीं ज्यादा वैक्सीन लोगों को लगेगी। दूसरी तरफ बुजुर्गों और महिलाओं में खास उत्साह देखने को नहीं मिल रहा। अभी तक यूपी में कुल 2.46 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं। 2.06 करोड़ लोगों को पहली और 39.45 लाख ने दूसरी डोज लगवाई है।

युवाओं को मई में 23 जिलों में और फिर एक जून से सभी जिलों में वैक्सीन लगाए जाने की शुरूआत हुई। अब तक 18 से 44 वर्ष की आयु वाले 65.54 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को एक मार्च से टीके लगने शुरू हुए थे और अब तक 58.13 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाई है। उधर एक अप्रैल से 45 से 60 वर्ष की आयु वाले लोगों को टीके लगाए जाने की शुरुआत हुई और अब तक 83.19 लाख लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। अब अगर पुरुष व महिलाओं के टीकाकरण पर नजर दौड़ाई जाए तो 1.18 करोड़ पुरुष व 87.97 लाख महिलाओं ने टीके लगवाए हैं।

जून में एक करोड़ वैक्सीन लगाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और युवाओं के जोश के कारण एक जून से लेकर गुरुवार तक 60.89 लाख लोग वैक्सीन लगवा चुके थे। हर दिन औसतन पौने तीन लाख से अधिक टीके लगाए जा रहे हैं। ऐसे में तय लक्ष्य से ज्यादा टीके लगना तय हैं। मालूम हो कि प्रदेश में 18 से 44 वर्ष की आयु वाले नौ करोड़ लोगों को और 45 पार की उम्र वाले चार करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जानी है।