लखनऊ, जेएनएन। मोहनलालगंज से भाजपा सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष ने मंगलवार देर रात खुद पर गोली चलवाई। साजिश के तहत विरोधियों को फंसाने के लिए आरोपित ने यह हरकत की थी। आयुष ने अपने साले आदर्श से खुद पर गोली चलवाई। पुलिस ने आदर्श को गिरफ्तार कर लिया है। मडिय़ांव थाने में आयुष और आदर्श के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। 

आयुष किशोर के मुताबिक मंगलवार रात करीब दो बजे वह अपने साले आदर्श के साथ टहलने निकला था। शुरुआत में आयुष ने कहा कि मडिय़ांव में छठा मिल के पास काली कार सवार लोगों ने उसे गोली मार दी, जो बाएं हाथ और सीने को छूते हुए निकल गई। पुलिस ने आयुष को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया। इसके बाद छानबीन शुरू की गई। सीसी फुटेज में कोई भी हमलावर वहां से गुजरता नहीं दिखा। डीसीपी उत्तरी रईस अख्तर के मुताबिक पड़ताल में सामने आया कि आयुष ने अपने कुछ व्यावसायिक साथियों को फर्जी मुकदमे में फंसाने के लिए खुद पर हमला कराया था। संदेह होने पर पुलिस ने आदर्श से पूछताछ की, जिसके बाद पता चला कि आयुष के कहने पर उसने गोली मारी थी। आदर्श ने पुलिस के सामने कबूल किया कि आयुष ने चार लोगों को जानलेवा हमले के आरोप में फंसाने के लिए यह साजिश रची थी। 

आयुष ने आदर्श से कहा था कि वह उसे गोली मारे बाकि वह संभाल लेगा। पुलिस ने आदर्श के पास से एक पिस्टल और कारतूस बरामद की है, जो आयुष ने उसे दी थी। इस मामले में आयुष के परिवार के लोगों ने पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी। इसके बाद मडिय़ांव थाने में तैनात दारोगा राधेश्याम मौर्या ने आयुष और आदर्श के खिलाफ धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश की एफआइआर दर्ज कराई। दारोगा के मुताबिक आदर्श ने डायल 112 पर फोन कर घटना की सूचना दी थी।

अस्पताल से निकल गया आयुष, फरार 

आयुष को देर रात ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था, जहां कुछ देर रुकने के बाद बुधवार सुबह वह निकल गया। आयुष कहां गया, इसके बारे में पुलिस को जानकारी नहीं है। बताया जा रहा है कि जैसे ही आयुष को पता चला कि उसकी साजिश बेनकाब हो गई है, वह ट्रामा सेंटर से फरार हो गया। फिलहाल इस संबंध में पुलिस अधिकारी भी चुप्पी साधे हुए हैं। 

निष्पक्ष जांच कर हो कार्रवाई 

बेटे पर हमले की सूचना मिलने के बाद सांसद कौशल किशोर पत्नी जयदेवी के साथ ट्रामा सेंटर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि आयुष दुबग्गा में रहता है। आयुष एक विवाहित महिला से शादी करना चाहता था, जो उससे उम्र में बड़ी है। इसका विरोध करने पर आयुष उन लोगों से अलग रहने लगा था। आयुष ने परिवार वालों की मर्जी के खिलाफ महिला से शादी कर ली थी। सांसद ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में जो भी दोषी हो, पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई करे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021