लखनऊ, जेएनएरन। Ajit Singh Murder Case in Lucknow:  अजीत सिंह की हत्या मामले में नया मोड़ आ गया है। इसकी जड़ अब मुन्ना बजरंगी के हत्यारोपित सुनील राठी से जुड़ रही है। गैंगवार में जिस शूटर को गोली लगी थी, उसकी लखनऊ पुलिस ने शिनाख्त कर ली है। पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर के मुताबिक घायल शूटर अलीगढ़ निवासी राजेश तोमर है। राजेश कुख्यात सुनील राठी का करीबी है। 

राजधानी पुलिस ने आंबेडकरनगर में बलुआ चंदौली निवासी संदीप सिंह उर्फ बाबा समेत दो लोगों को दबोचा है। संदीप ने राजेश तोमर के साथ मिलकर अजीत पर गोलियां बरसाई थीं। संदीप सदर कोतवाली उकरा गांव निवासी अपने परिचित देवेंद्र सिंह के घर पर छिपा था। पुलिस देवेंद्र और उसके साथी संजय सिंह से पूछताछ कर रही है। सूत्रों का कहना है कि संदीप ने राजेश तोमर व अन्य के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी है। उधर, पुलिस आयुक्त ने बताया कि राजेश तोमर बागपत में जून 2020 में हुई परमवीर तुगाना की हत्या में वांछित है। राजेश पर 25 हजार का इनाम भी घोषित है और बागपत पुलिस राजेश की तलाश कर रही है। 

बागपत पुलिस ने दी जानकारी 

सूत्रों का कहना है कि राजेश के भाई रवींद्र तोमर पर बागपत पुलिस नजर रख रही थी। इसी बीच रवींद्र को पता चला कि राजेश को गोली लगी है। रवींद्र ने राजेश से संपर्क किया, जिसकी भनक बागपत पुलिस को लग गई। इसके बाद बागपत पुलिस ने रवींद्र को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में रवींद्र ने बताया कि राजेश की हालत गंभीर है और वह दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती है। इसके बाद बागपत पुलिस ने लखनऊ पुलिस को मामले की जानकारी दी। शूटर की पहचान होने के बाद राजधानी पुलिस ने उसकी कुंडली खंगाली तो पता चला कि वह सुनील राठी का करीबी है।

सुनील राठी ने जेल में की थी मुन्ना बजरंगी की हत्या 

नौ जुलाई 2018 को सुनील राठी ने बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वर्तमान में सुनील तिहाड़ जेल में बंद है। खास बात यह है कि अजीत के हत्यारोपित को भी दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था, जो तिहाड़ जेल में ही बंद है। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप