मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। कांग्रेस चाहती है कि अब जिलों में संगठन की जिम्मेदारी ऐसे मजबूत कंधों पर डाली जाए जो पार्टी को सक्रिय कर खड़ा कर सकें। तमाम दौड़-धूप के बावजूद ऐसे चेहरे अब तक सामने नहीं आ सके हैं। अब पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जन्म समारोह के कार्यक्रमों को बतौर इम्तिहान देखा जाएगा और यहां से भी काबिलों की तलाश का प्रयास होगा।

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस हाईकमान ने प्रदेश की सभी जिला इकाइयों को भंग कर दिया। उसके बाद पार्टी महासचिव प्रियंका वाड्रा ने नेता विधानमंडल दल अजय कुमार लल्लू को ऐसे कार्यकर्ताओं को चिह्नित करने की जिम्मेदारी सौंपी है, जो संगठन को मजबूत कर सकें। वह तमाम जिलों का दौरा कर चुके हैं लेकिन, अभी तक यह काम पूरा नहीं हो सका है। यही वजह है कि बेहतर जनाधार और संगठन में पकड़ वाले कार्यकर्ताओं की तलाश के लिए पार्टी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जन्म समारोह को भी एक जरिया बनाने जा रही है। 20 अगस्त को राजीव गांधी के 75वें जन्मदिन पर समाज से जुड़े कई कार्यक्रम होने हैं, जबकि 25 अगस्त को हर जिले में सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता होगी।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप