मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में रविवार रात रिश्तों को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई। सालों से एक पिता अपनी दो बेटियों से हैवानियत कर रहा था। सात साल की उम्र से बड़ी बेटी पिता की अश्लीलता का शिकार हो रही थी, लेकिन यह सिलसिला जब छोटी बहन के साथ भी आम हो गया तो उससे रहा नहीं गया। पिता की दर‍िंंदगी और खौफ को दरकिनार कर युवती ने आवाज उठाई और आशा ज्योति केंद्र से मदद की गुहार लगाई। इसके बाद आशा ज्योति केंद्र ने रविवार देर रात दोनों बहनों को रेस्क्यू कर नर्क से मुक्ति दिलाई। चिनहट पुलिस ने बड़ी बेटी की तहरीर पर आरोपित पिता के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट समेत गंभीर धाराओं में एफआइआर दर्ज की है।

आशा ज्योति केंद्र की प्रभारी अर्चना सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से चलाए जा रहे कवच अभियान के जरिए उन्हें करीब 15 दिन पहले उन्हें इस प्रकरण की जानकारी हुई थी। इसके बाद आरोपित की बड़ी बेटी (22) से संपर्क किया था। काफी काउंसिलिंग करने के बाद युवती ने पिता की करतूत बताई। इसके बाद टीम ने छानबीन करते हुए योजना के तहत साक्ष्य संकलन किए और रविवार को युवती और उसकी नाबालिग बहन (14) को पिता के चंगुल से मुक्त कराया।

पीडि़ता ने बताया कि सात साल की उम्र से वह पिता के हवस का शिकार हो रही थी। आरोपित उसकी छोटी बहन का भी यौन उत्पीडऩ करता था। परेशान होकर उसने अपने स्कूल की एक प्रिंसीपल से संपर्क किया और उन्हें पूरी बात बताई थी। इसपर प्रिंसीपल ने विच कार्यक्रम के माध्यम से आशा ज्योति केंद्र से संपर्क किया और उसे व उसकी छोटी बहन की मुलाकात टीम से कराई।

हैरान रह गए सभी

सगी बहनों की दास्तां सुनकर पुलिस और आशा ज्योति केंद्र के अधिकारी हैरान रह गए। आरोपित मारपीट कर दोनों बहनों के साथ दुराचार करता था और मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी देता था। पीडि़ता ने बताया कि उसकी मां को पूरे मामले की सालों से जानकारी थी। शिकायत करने पर मां लोकलाज का भय दिखाकर खामोश कर देती थी। पुलिस इस मामले में आरोपित का साथ देने वाली उसकी पत्नी के खिलाफ भी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है। प्रकरण की जानकारी चाइल्ड वेलफेयर कमेटी को दे दी गई है। सोमवार को दोनों बहनों का मेडिकल परीक्षण कराया जाएगा, इसके बाद उनके बयान होंगे।

वर्दी में घर पर मत जाना सर

पिता की घृणित करतूत से दोनों बेटियां खौफ में हैं, लेकिन उन्होंने हिम्मत दिखाते हुए अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई है। हालांकि अभी भी उनके चेहरे पर दहशत का भाव झलक रहा है। चिनहट कोतवाली में बड़ी बेटी ने पुलिसकर्मियों से वर्दी में घर पर न जाने की अपील की। पीडि़ता ने कहा कि वर्दी में जाने पर आसपास के लोग तरह तरह के सवाल करेंगे। उधर, चिनहट पुलिस ने देर रात आरोपित के घर पर दबिश दी और उसे गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप