लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उत्तर प्रदेश के लोकायुक्त नियुक्त जस्टिस वीरेंद्र सिंह 20 दिसंबर को प्रात: 10:30 शपथ लेंगे। जस्टिस वीरेंद्र सिंह के नियुक्ति पत्र को आज राज्यपाल राम नाइक ने साइन कर दिया।

राज्यपाल राम नाईक 20 दिसंबर को राजभवन में प्रात: 10: 30 बजे जस्टिस वीरेंद्र सिंह को प्रदेश के लोकायुक्त की शपथ दिलाएंगे। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जस्टिस वीरेंद्र सिंह को प्रदेश का लोकायुक्त करने के संबंध में पत्रावली राज्यपाल को अनुमोदन के लिए भेजी थी। राज्यपाल राम नाईक ने आज सुप्रीम कोर्ट के आदेश की प्रति मिलने के बाद मुख्यमंत्री के पत्र पर अपना अनुमोदन प्रदान किया।

भ्रष्टाचारी डरें, ऐसे काम करें लोकायुक्त

भ्रष्टाचारी को डर लगे इस कार्यशैली से हर लोकायुक्त को काम करना चाहिए। लोकायुक्त खुद में एक स्वतंत्र संस्था है। लोकायुक्त का ध्येय भ्रष्टाचार पर नियंत्रण करना है। लोकायुक्त एनके मेहरोत्रा ने पत्रकारों से बातचीत में कहीं। कानपुर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में लोकायुक्त नियुक्ति की प्रक्रिया पर बोले कि वह उस प्रक्रिया का हिस्सा नहीं थे। इसलिए उस संबंध में क्या टिप्पणी करें। जब उनसे प्रश्न किया गया कि क्या सरकार की ओर से कोई कमी रह गयी तो उन्होंने जवाब दिया कि इसका जवाब सरकार से लीजिए। हालांकि उन्होंने कहा कि वह आध्यात्म में ज्यादा विश्वास करते हैं। उन्हें लगता है जो भी होता है वह ईश्वर की मर्जी से होता है।

Posted By: Dharmendra Pandey