Move to Jagran APP

अब टूटना चाहिए हाय-बाय का कल्चर : राजनाथ

देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह कल अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ में दार्शनिक अंदाज में थे। पंडित गोविंद बल्लभ पंत पर्वतीय सांस्कृतिक उपवन में उत्तरायणी कौतिक मेले में उन्होंने कहा कि भारत परंपराओं और सभ्यता का देश है। हाय-बाय के बढ़ते कल्चर को रोकना होगा। चरण स्पर्श करें, क्योंकि जो

By Dharmendra PandeyEdited By: Mon, 19 Jan 2015 10:37 AM (IST)
अब टूटना चाहिए हाय-बाय का कल्चर : राजनाथ

लखनऊ। देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह कल अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ में दार्शनिक अंदाज में थे। पंडित गोविंद बल्लभ पंत पर्वतीय सांस्कृतिक उपवन में उत्तरायणी कौतिक मेले में उन्होंने कहा कि भारत परंपराओं और सभ्यता का देश है। हाय-बाय के बढ़ते कल्चर को रोकना होगा। चरण स्पर्श करें, क्योंकि जो झुकना नहीं जानता वह टूट जाता है। बच्चों को यह संस्कार जरूर दें।

उन्होंने कहा आप रोज माता-पिता का आर्शीवाद लें, चरण स्पर्श करें। इससे आपकी बुद्धि और यश में वृद्धि होगी। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बताया पूरे विश्व को परिवार समझने का संदेश वसुधैव कुटुंबकम् भारत ने ही दिया है। उन्होंने इस परंपरा से मत कटिए, यह हमारा गौरव हैं। कार्यक्रम के बाद पर्वतीय महापरिषद की लखनऊ से काठगोदाम तक ट्रेन का पुन: शुरू करने की मांग पर राजनाथ सिंह ने कहा कि एक ट्रेन के संचालन को स्वीकृति मिल चुकी है। वह जल्दी किसी दिन समय निकालकर आएंगे और ट्रेन का संचालन शुरू करेंगे।