पुलिसिंग में सुधार के लिए एसपी की नई पहल

ललितपुर ब्यूरो:

जिले थानों में तैनात पुलिस कर्मियों की मनमानी अब नहीं चलेगी। पुलिस की कार्यप्रणाली में सुधार लाने के लिए पुलिस अधीक्षक ने खा़का तैयार कर लिया है, जिसके तहत प्रत्येक थाने की गोपनीय जाँच कराई जाएगी। साथ ही तत्परता का पता लगाने के लिए टेस्ट एफआइआर भी दर्ज कराई जाएगी।

पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने जिले में पारदर्शी पुलिस व्यवस्था बनाने के लिए नई कार्ययोजना तैयार की है, जिसके तहत थानों में तैनात आरक्षियों से लेकर थानेदार सबको रडार पर ले लिया गया है। थानों में पुलिस के कामकाज का पता लगाने के लिए गोपनीय रणनीति बनाई गई है। पुलिस अधीक्षक के गुप्तचर प्रत्येक थानों में जाकर अपराध नियन्त्रण के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण सूचनाएं संकलित करेगे। इसके अलावा जन शिकायतों पर पुलिस की तत्परता का पता लगाने के लिए 'टेस्ट रिपोर्ट' भी दर्ज कराई जाएंगी। गुप्तचरों के फीड बैक और टेस्ट रिपोर्ट की समीक्षा के बाद पुलिस कर्मियों में सुधार लाने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएंगे। इस नई व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है, जिसको लेकर जिले भर के थानों में हड़कम्प मचना तय माना जा रहा है। मालूम हो कि जिले के अधिकाश थानों में पुलिस कर्मियों के रवैये में तनिक भी बदलाव नहीं आया है। सिपाहियों से लेकर थानेदार तक क्षेत्र की जनता की फरियाद सुनने के बजाय डाटने - फटकारने का रवैया अपनाए हुए है, साथ ही फरियादियों को अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए मुख्यालय पर भटकना पड़ रहा है, जिससे पुलिस की छवि पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय में जन शिकायतों की सुनवाई के दौरान इस तरह की समस्याएं प्रकाश में आने पर पुलिस अधीक्षक ने थानों में तैनात पुलिस कर्मियों की कार्यप्रणाली में सुधार लाने के लिए यह ऑपरेशन शुरू किया है, ताकि पुलिस की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता परिलक्षित हो सके।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस