लखीमपुर : पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद आल इंडिया कांग्रेस वर्किंग कमेटी का सदस्य बनाए जाने के बाद रविवार को पहली बार जिले में पहुंचने पर उनका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान एलआरपी चौराहे के निकट स्थित प्रेसीडेंट पार्क में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन व सम्मान समारोह में जितिन प्रसाद ने कहा कि कार्यकर्ताओं के विश्वास ने उन्हें पार्टी की सर्वोच्च समिति में पहुंचाया है।

जितिन प्रसाद ने समारोह में कहा कि कार्यकर्ता ही संगठन की रीढ़ होते हैं। उनकी मेहनत से ही संगठन ऊंचाइयों को छूता है। जिले की बाढ़ की समस्या का जिक्र करते हुए जितिन प्रसाद ने कहा कि इसको लेकर प्रदेश व केंद्र सरकार गंभीर नहीं है। धौरहरा, पलिया, फूलबेहड़ व निघासन इलाके में लोग बाढ़ व नदी कटान की त्रासदी झेल रहे हैं, पर शासन-प्रशासन मूक दर्शक बना है। उन्होंने भाजपा सरकार पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगया। कहा कि किसानों की आय दुगनी करने का झूठा प्रचार भाजपा सरकार कर रही है, जबकि सच्चाई ये है कि किसान को अब तक गन्ना मूल्य का भुगतान तक नहीं हुआ है। समारोह को कांग्रेस नेता अशफाक उल्ला खां, पूर्व जिलाध्यक्ष इकबाल अहमद खां, जिलाध्यक्ष राघवेंद्र बहादुर ¨सह, सैफ अली नकवी, दीपक बाजपेई, रवि प्रताप ¨सह, सुजीता कुमारी व प्रहलाद पटेल ने भी संबोधित किया। संचालन पीसीसी सदस्य राजीव अग्निहोत्री ने किया। इस दौरान इरफान किदबई, डॉ. कलामुद्दीन, जमाल अहमद, पप्पू बबुरी, सत्यबंधु गौड़, सुशील शुक्ला व नवीन पांडेय मौजूद रहे।

एनआरसी पर न हो राजनीति

जितिन प्रसाद ने सम्मेलन के बाद प्रेस वार्ता में कहा कि एनआरसी के मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। जो लोग वास्तव में अवैध रूप से देश में रह रहे हैं, उनका पता लगाकर कार्रवाई होनी चाहिए, ना कि धर्म और समुदाय के आधार पर। उन्होंने कहा कि एनआरसी का काम वर्षों पहले कांग्रेस सरकार ने ही शुरू किया था। भजपा इसका झूठा श्रेय ले रही है।

Posted By: Jagran