धौरहरा (लख मपुर) : घाघरा नदी से हो रहा कटान जलस्तर घटने के बाद अभी थमा तो नही बस धीमा हुआ है। लेकिन शारदा नदी ने धौरहरा ब्लाक के चहमलपुर गांव मे कटान शुरू कर दिया है। नदी गांव की आबादी से महज चार मीटर दूर बह रही है। इसकी सूचना मिलते के बाद एसडीएम ने ¨सचाई विभाग से कहकर कटान की जगह पर पाइ¨लग का काम शुरू करा दिया है। इसके साथ ही क्षेत्रीय लेखपाल मे गांव मे मौजूद रहकर लगातार रिपोर्ट करने को कहा है।

शारदा नदी धौरहरा ब्लाक के रैनी, समदहा, चिकनाजती और चहमलपुर मे जलभराव और कटान करती है। आस पास के कई और गांव भी शारदा की बाढ से परेशान होते रहे है। कुछ दिन पहले ही शारदा ने चिकनाजती और समदहा मे कटान तेज किया था लेकिन फिर इसकी रफ्तार धीमी होती गयी। अब दो दिन से नदी चहमलपुर की सीमा मे कटान कर रही है और आबादी के बेहद करीब आ पहुंची है। उधर घाघरा नदी ईसानगर के साहबदीनपुरवा और कुंजापुरवा में धीमी गति से कटान जारी रखे है। रमियाबेहड़ ब्लाक के रामनगर बगहा मे भी घाघरा नदी खेतों का कटान करते हुए गांव की तरफ बढ रही है। हलांकि अब नदी के कटान की रफ्तार कम है।

फूलबेहड़ संवादसूत्र के मुताबिक शारदा नदी का जलस्तर कम पड़ते ही नदी ने फिर से जबरदस्त कटान करना शुरू कर दिया है। शारदा नदी ने जंगल नं. 11 में जबरदस्त कटान शुरू कर दिया है।कटान में एक पक्का मकान भी चला गया वहीं कई लोगों की फसलें नदी में समा गयी है। शारदा नदी ने जंगल नं. 11 शशिकांत का प्रधान मंत्री आवास को काट लिया है। वहीं शशिकांत, नैपाल, शोला देवी की एक एक एकड़, बदरी, रामप्रसाद, रामदरश तीन-तीन एकड़ जमीन फसलों समेत नदी में समा गयी। हल्का लेखपाल लल्लू राम ने कटान स्थल पर जाकर कटान पीड़ितों से बात की और आश्वासन दिया कि प्रशासन की तरफ से उन्हें मदद दिलाई जाएगी।

Posted By: Jagran