लखीमपुर : दरोगा मनोज मिश्रा की हत्या की सीबीआई जांच की मांग को लेकर एक बार फिर उनके पिता श्याम मुरारी मिश्रा की ओर से डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया गया है। इस मौके पर विश्व ¨हदू परिषद के प्रदेश स्तरीय नेता आचार्य संजय मिश्र जिला अध्यक्ष बृजेश पांडे बजरंग दल संयोजक अनुज तिवारी ने भी उन्हें समर्थन दिया है। ज्ञापन में मांग की गई है कि शहीद मनोज मिश्रा के नाम पर राजापुर चौराहे का नामकरण कराया जाए साथ में शहीद दरोगा मनोज मिश्रा की प्रतिमा लगाकर मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना के तहत गांव का विकास भी कराया जाए। जिला मुख्यालय के गांव हरदासपुर लगुचा निवासी श्याम मुरारी मिश्रा विश्व ¨हदू परिषद बजरंग दल कार्यकर्ताओं के साथ विलोबी हाल के परिसर में श्रद्धांजलि सभा की। दरोगा मनोज मिश्रा के परिवारीजनों तथा विहिप के कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। डीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया। ज्ञापन में कहा गया है कि बरेली जिले के थाना फरीदपुर में तैनात दरोगा मनोज मिश्रा की हत्या 9 सितंबर 2015 की रात करीब 10:15 बजे करवा दी गई थी। अहमदाबाद होने को तस्करी का विरोध किया था परिवार ने जो आंदोलन किया उसमें भारतीय जनता पार्टी विश्व ¨हदू परिषद ने समर्थन भी किया। भाजपा के नेता सुरेश खन्ना ने विधानसभा में हृदय नारायण दीक्षित ने विधान परिषद में इसे उठाया। तत्कालीन प्रदेश सरकार ने आरोपियों को पूरी तरह संरक्षण दिया और मुआवजा देने में भी भेदभाव किया। ज्ञापन में कहा गया है कि इससे पहले 16 फरवरी को मुख्यमंत्री को उनके आवास पर ज्ञापन दिया था। मुख्यमंत्री ने घटना का संज्ञान लेते हुए सीबीआई जांच का आश्वासन दिया था। अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। ज्ञापन सौंपने वालों में प्रभात मिश्रा, अवधेश शुक्ला, नितिन धवन, शिवम अवस्थी, योगेश मिश्रा समेत काफी संख्या में लोग थे।

Posted By: Jagran