कुशीनगर : मकर संक्रांति का पर्व शनिवार को श्रद्धा पूर्वक मनाया गया। श्रद्धालुओं ने बांसी व नारायणी नदी घाटों पर डुबकी लगाई। घने कोहरे व गलन के बावजूद घाटों पर श्रद्धा का सैलाब देखने लायक था। स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने दान-पुण्य कर विश्व कल्याण की कामना की। हर जगह लगे मेले में श्रद्धालुओं ने घर गृहस्थी के सामान की खरीदे। मौसम अनुकूल होने से हर तरफ उत्साह और चहल-पहल दिखा।

छितौनी व पनियहवा स्थित नदी घाटों पर सुबह से ही स्नान के लिए वाहनों का रेला पहुंचने लगा। महिलाओं, पुरुषों व बच्चों की भीड़ एकत्रित हो गई। लोगों ने नदी में डुबकी लगाई और भगवान भाष्कर को जल अर्पित किया। लोगों ने दान-पुण्य कर लोकहित की कामना की। हर तरफ हर-हर गंगे की गूंज सुनाई दे रही थी। परंपरागत ढंग से दान पुण्य करने के बाद लोगों ने लईया, तिलवा व खिचड़ी खाई। नदी घाट पर आयोजित मेले में लोगों ने जमकर खरीदारी की। सुरक्षा को लेकर पुलिस टीम पूरी तरह मुस्तैद रही। एएसपी रितेश कुमार सिंह मातहतों संग भ्रमणशील रहे।

भगवान राम को चढ़ी खिचड़ी, श्रद्धालुओंने लिया प्रसाद

कसया नगर के रामजानकी मंदिर मठ पर मकर संक्रांति का पर्व परंपरागत श्रद्धा एवं उल्लास पूर्ण वातावरण में मनाया गया। भंडारा में खिचड़ी पकी। भगवान को भोग लगाने के बाद श्रद्धालुओं को खिलाया गया। लोगों ने भी श्रद्धापूर्वक प्रसाद ग्रहण किया। महंथ त्रिभुवन शरण दास ने बताया कि इस क्षेत्र में मकर संक्रांति का बड़ा महत्व है। इससे पूर्व पुजारी देवनारायण शरण ने पूजन अर्चन किया। सभासद महेश जायसवाल, भाजपा नेता ओम प्रकाश जायसवाल, राकेश जायसवाल, सुरेश तिवारी आदि उपस्थित रहे। तुर्कपट्टी संवददाता के अनुसार तुर्कपट्टी स्थित सूर्य मंदिर परिसर में श्रद्धा का सैलाब उमड़ पड़ा था। मंदिर पर सहभोज आयोजित हुआ। अधिक संख्या में लोगों ने प्रसाद स्वरूप खिचड़ी खाई। सुधीर शाही, विनय राय, पूर्व प्रमुख नारायणी शाही, शैलेंद्र कुमार तिवारी आदि उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran