कुशीनगर : कृषक इंटर कालेज मल्लूडीह में शनिवार को शिक्षक-कर्मचारी पेंशनर्स अधिकार मंच के बैनर तले एक अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त हुए शिक्षक व कर्मचारियों की बैठक हुई। जहां हक के लिए एकजुटता का आह्वान किया गया।

जिला उपाध्यक्ष मो. मोइनुद्दीन अंसारी ने कहा कि जब तक हम अपनी मांगों को लेकर मजबूती के साथ आवाज नहीं उठाएंगे तब तक हक नहीं मिलने वाला है। पेंशन कर्मचारियों का अधिकार है। कर्मचारी 60 वर्ष की आयु तक अपनी सेवा देता है। उसके बाद भी उसे पेंशन से वंचित कर दिया गया है। जबकि सांसद व विधायक, जो लोगों के मत से चुने जाते हैं। और इनका कार्य है लोगों की सेवा व क्षेत्र का विकास करना। मगर सरकार की गलत नीतियों के चलते इन्हें पांच वर्ष की सेवा में ही पेंशन मिलने लगता है। कर्मचारी संगठन के संयोजक प्रभुनंद उपाध्याय ने कहा कि हम अपने हक के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे। सरकार को हमारी मांगें माननी पड़ेंगीं। आगामी 30 नवंबर को लखनऊ में होने वाले आंदोलन में जिले से पांच हजार से अधिक कर्मी शामिल होंगे।

राजकुमार सिंह, बृजेश श्रीवास्तव, ओमप्रकाश सिंह, अनिल दूबे, डा. अरविद तिवारी, अनूप दूबे, विनोद मिश्र आदि ने भी संबोधित किया।

संचालन अजय त्रिपाठी ने किया। अर्जुन सिंह, सुनील केसरी, अमरेश पांडेय, चंद्रिका कुशवाहा, राजेश सिंह, जयंत सिंह, प्रतिभा सिंह, सीमा मद्धेशिया, रंजू चौबे, मेनका गोंड, नासिर सिद्दीकी, पदमावती वर्मा, श्रीनिवास कुशवाहा आदि उपस्थित रहे।

ताली-थाली बजा कर जताया विरोध

उप्र राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ का आंदोलन शनिवार को भी जारी रहा। सीएचसी परिसर में स्वास्थ्य कर्मियों ने अपनी मांगों को लेकर काली पट्टी बांधकर ताली-थाली बजाई।

जिला उपाध्याय डा. एसके सिंह ने कहा कि संविदा कर्मी किसी भी कार्य में पीछे नहीं हैं। उन्हें जो भी जिम्मेदारियां मिलती है उसका निष्ठा पूर्वक निर्वहन करते हैँ। सरकार को इन्हें नियमित कर्मचारी या समान कार्य का समान वेतन देना होगा। वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि संविदा कर्मियों का वेतन संवर्ग नियमित कर्मचारियों के वेतन से काफी कम है। इस पर सरकार को विचार करना चाहिए। महंगाई के चलते इन्हें आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। डा. नाजरीन, एएनएम मीरा दूबे, पूनम राय, प्रीति कनौजिया, राकेश पाडेय, अमित राय, प्रवीण पांडेय, शाहिद अंसारी, अल्का राय, अनुराधा आदि उपस्थित रहे।

हक के लिए गरजे संविदा कर्मी

प्रदेश संगठन के आह्वान पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारियों ने ताली थाली बजाकर कस्बा स्थित सीएचसी में प्रदर्शन किया। जिलाध्यक्ष सत्येंद्र पांडेय ने कहा कि लंबित मांगें अगर पूरी नहीं हुईं तो 29 नवंबर को बड़ी संख्या में कर्मचारी लखनऊ पहुंच मिशन निदेशक का घेराव करेंगे। कहा कि कर्मचारियों की मांग पर अंधी-बहरी सरकार चुप्पी साधे हुए है। संरक्षक चंद्रशेखर यादव लड्डू, जिला मीडिया प्रभारी डा. शिप्रा मिश्रा, डा.वेद प्रकाश तिवारी, डा.आयुर्वेद सिंह, डा.मधुसूदन मिश्र, राजू यादव सहित बड़ी संख्या में कर्मचारी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran