कुशीनगर : स्पाइस जेट की फ्लाइट से दिल्ली से आए यात्री अपने घरों को जाने के लिए टैक्सी के लिए परेशान हुए। टैक्सी के लिए यात्रियों को घंटों प्रतीक्षा करनी पड़ी। कई यात्री तो मजबूरन गंतव्य पर जाने के लिए पैदल ही शहर के लिए निकल लिए।

यात्रियों ने एयरपोर्ट से शहर के लिए ई-रिक्शा, टेंपो आदि संचालित किए जाने की मांग की है। एयरपोर्ट पर सोमवार को स्पाइस जेट की दिल्ली से आई यह तीसरी उड़ान थी। यात्रियों में ज्यादातर दूर दराज विशेषकर बिहार के जनपदों गोपालगंज, सीवान, छपरा जिलों के थे। कई सारे यात्रियों के परिजन टैक्सी या निजी वाहन लेकर उन्हें रिसीव करने आए थे। परंतु कई यात्रियों को टैक्सी रिजर्व कर घरों को जाना था। ऐसे में यात्रियों को घंटों मशक्कत करनी पड़ी। टर्मिनल बिल्डिग के बाहर टैक्सी का इंतजार करते सिवान के रहने वाले एडी ईशा व उनकी पत्नी तबस्सुम खातून मिले। अहमदाबाद में इनका कारोबार है, बाया दिल्ली होकर कुशीनगर आए थे। दंपती ने बातचीत में बताया कि इस एयरपोर्ट से उड़ान शुरू होने से उन्हें बड़ी खुशी है कि अब घर के पास उतरा करेंगे। इनका कहना था कि यहां यात्री सुविधाएं बढ़ाई जानी चाहिए। घर के लोगों ने स्थानीय संपर्क के माध्यम से टैक्सी ली है। एयरपोर्ट निदेशक एके द्विवेदी ने बताया कि कुछ दिनों की दिक्कत है। फरवरी तक एयरपोर्ट को यात्री सुविधाओं व संसाधनों से लैस एयरपोर्ट बनाने की तैयारी चल रही है।

20 मिनट पूर्व आई फ्लाइट

दिल्ली से आई स्पाइस जेट की फ्लाइट निर्धारित समय से 20 मिनट पूर्व कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर आई। 1.30 बजे की बजाय फ्लाइट 1.10 पर लैंड की। दिल्ली के लिए टेक आफ भी निर्धारित समय से पांच मिनट पूर्व हो गया। सोमवार को भी दिल्ली से कुशीनगर व कुशीनगर से दिल्ली जाने वाली फ्लाइट की दोनों तरफ से सीटें फुल थीं। स्टेशन मैनेजर कपिल खरे ने इसका कारण मौसम बेहद साफ होना बताया।

Edited By: Jagran