कुशीनगर: कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान शुरू होते ही यहां विदेशी पर्यटकों का भारी संख्या में आवागमन प्रारंभ हो जाएगा। पर्यटकों की सुविधा के लिए अच्छी संख्या में टूरिस्ट गाइड की जरूरत पड़ेगी। इसको लेकर कुशीनगर में महिला व पुरुष गाइडों को प्रशिक्षित करने के लिए योजना बनाई जा रही है।

इन्हें प्रशिक्षित कर स्पाट गाइड लाइसेंस प्रदान किया जाएगा। इससे प्रशिक्षित गाइडों को रोजगार मिलेगा साथ ही पर्यटकों को सुविधा मिलेगी। यहां श्रीलंका, म्यांमार, थाईलैंड, ताइवान, वियतनाम व चीन के पर्यटक अधिक संख्या में आते हैं। प्रारंभ में अंग्रेजी सहित कुछ विदेशी भाषी पर्यटकों के लिए गाइड प्रशिक्षित किए जाएंगे।

विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्रारंभ होने से यहां पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी। इसके लिए प्रशिक्षित टूरिस्ट गाइड का होना जरूरी है। मैनें इसकी मांग प्रमुख सचिव पर्यटन सहित उच्चाधिकारियों से की है। पर्यटक सूचना अधिकारी राजेश कुमार भारती ने कहा कि विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी ने उप्र पर्यटन के प्रमुख सचिव को पत्र प्रेषित कर कुशीनगर में स्पाट गाइड लाइसेंस देने के लिए प्रशिक्षण प्रारंभ करने की मांग की है। विभाग से मिले दिशा निर्देशों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

विश्वविद्यालयीय परीक्षा का नोडल सेंटर बना यूएनपीजी कालेज

27 तारीख से शुरू हो रही पंडित दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय की परीक्षा की उत्तर पुस्तिका संकलन के लिए उदित नारायण स्नातकोत्तर महाविद्यालय पडरौना को नोडल सेंटर बनाया गया है।

विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालयों के परीक्षार्थियों की उत्तर पुस्तिका नोडल सेंटर में जमा होती है और विशेष वाहन से उन्हें विश्वविद्यालय भेजा जाता है। कुशीनगर जिले में बुद्ध स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुशीनगर और उदित नारायण स्नातकोत्तर महाविद्यालय पडरौना को नोडल सेंटर बनाया गया है। यह जानकारी प्राचार्य डा. अयोध्या नाथ त्रिपाठी के हवाले से शमशेर मल्ल ने दी।

Edited By: Jagran